Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

पाकिस्‍तान के झूठ की खुली पोल, लक्ष्‍य भेदने नाकाम रही AMRAAM मिसाइलें



डेस्क। पाकिस्‍तान लड़ाकू विमान एफ-16 ने भारतीय लड़ाकू विमान मिग-21 को निशाना बनाते हुए चार से पांच अमेरिकी आमराम मिसाइलें दागीं। हालांकि, सभी मिसाइलें अपने लक्ष्‍य को भेदने में असफल रहीं। ये आमराम अ‍मेरिकी मिसाइलें उन्‍नन किस्‍म की हैं। यह मध्‍यम दूरी की हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें हैं। सूत्रों के हवाले से यह खबर ऐसे समय आई है, जब पाकिस्‍तानी सेना ने एफ-16 विमान के इस्‍तेमाल की बात को खारिज किया है। अगर यह हमले सटीक होते तो निश्चित रूप से भारत में एक बड़ी बर्बादी हो सकती थी।

सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि भारतीय सेना के कैंपों पर मिसाइल से प्रहार पाकिस्‍तान के उस दावे को खारिज करती है, जिसमें उसने कहा है कि भारत के खिलाफ एफ 16 विमानों का इस्‍तेमाल नहीं किया। बता दें कि इन मिसाइलों को एफ-16 विमानों से ही दागा जा सकता है। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्‍तानी वायु सेना का लक्ष्‍य एक भारतीय बिग्रेड मुख्‍यालय के साथ एक सेना मुख्‍यालय और तेल डंपिंग ग्राउंड था। 

बता दें कि भारतीय सेना 28 फरवरी को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भारतीय विमानों पर दागी गई आमराम मिसाइल के कुछ हिस्सों को मीडिया के सामने दिखाया था। अब भारतीय सेना इसके और अधिक सबूत जुटा रही है। भारत ने अमेरिकी रक्षा विभाग को सभी सबूत सौंप दिए हैं और अपनी चिंताओं से अवगत करा दिया है। भारतीय सेना उन इलाकों की व्‍यापक खोज कर रही है, जहां इन मिसाइलों का मलबा गिर सकता है। सूत्रों का कहना है कि मिसाइल मलबे के साथ पाकिस्‍तान बेनकाब हो जाएगा, जो यह कहता रहा है उसने भारत के खिलाफ एफ 16 का इस्‍तेमाल नहीं किया।

No comments