Ad

ads ads

Breaking News

घरेलू उड्डयन बाजार में चौथे स्थान पर भारत, रुतबा बरकरार

डेस्क। घरेलू एयरलाइन्स कंपनियों की बढ़ती प्रतिस्पर्धा के मध्य भारत ने सबसे तेजी से बढ़ने वाले नागरिक उड्डयन बाजार का रुतबा लगातार चौथे साल बरकरार रखा है। इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन की ओर से जारी साल 2018 की रिपोर्ट की माने तो भारत के घरेलू उड्डयन बाजार ने लगातार चौथे साल 18.6 फीसदी की सबसे तेज वृद्धि दर हासिल की है। जो कि बेहद अहम है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के अनुसार साल 2018 में 13.9 करोड़ घरेलू यात्रियों ने हवाई यात्रा की। यह संख्या साल 2017 के मुकाबले 18.6 फीसदी अधिक रही। रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 और 2018 दोनों साल वैश्विक स्तर पर घरेलू हवाई सफर में औसतन सात फीसदी का इजाफा हुआ। इस अवधि में भारत और चीन की अगुवाई में तकरीबन सभी बाजारों ने बढ़त हासिल की। देश की सबसे बड़ी उड्डयन कंपनी इंटरग्लोब एविएशन की पैसेंजर ग्रोथ साल 2018 में 20 फीसदी से अधिक रही है। कंपनी के टिकटों की औसत कीमत 6 फीसदी बढ़कर 4,176 रुपये तक पहुंच गई। रिपोर्ट के अनुसार यह पिछले पांच सालों में इसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

No comments