Ad

ads ads

Breaking News

वेरिफिकेशन के नाम पर मांगी रिश्वत,ऑडियो हुआ वॉयरल

नवाबगंज/उन्नाव। यूपी पुलिस कितना भी हाईटेक टेक्नोलॉजी और मित्र व्यवहार की बात कर रही हो, लेकिन कुछ पुलिसकर्मी लगातार पूरे विभाग पर दाग लगाने का काम कर रहे हैं। पासपोर्ट की वेरिफिकेशन जैसे ही थानों में पहुंचती है, रिश्वत का खेल शुरु हो जाता है। इसी कड़ी में सोहरामऊ थाना क्षेत्र के गांव महनौरा निवासी एक युवक ने पास्पोर्ट बनवाने के लिए अप्लाई किया था। सोहरामऊ थाने में तैनात कंप्यूटर आपरेटर ने वेरीफिकेशन के नाम पर 1500 रुपये की रिश्वत मांगी। रिश्वत मांगे जाने के बाद युवक ने उसका ऑडिओ बना लिया है। जो अब सुर्खियों में है। मामले की जानकारी पीड़ित ने सीओ व एडिशनल एसपी को दी है।पुलिस ने मामले की जांच कराने की बात कही है।
सोहरामऊ थाना क्षेत्र के गांव महनौरा निवासी युवक बिंदा प्रसाद पुत्र पुत्तीलाल ने बताया कि उसने पासपोर्ट बनवाने के लिए अप्लाई किया था। करीब एक सप्ताह पहले थाने में वेरीफिकेशन के लिए कागज आ गए थे। लेकिन थाने में कंप्यूटर आपरेटर के पद पर तैनात सिपाही वसीम ने कागज में मौजूद नंबर के माध्यम से बिंदा प्रसाद को फोन किया। आरोप है कि उसने फोन पर आधार कार्ड, दो फोटो, पैनकार्ड के बाद खर्चा पानी के नाम पर 1500 सौ रुपये की मांग करते हुए थाने में आने को कहा। उसके बाद युवक ने सोशल मीडिया पर रिश्वत मांगने का ऑडिओ वायरल कर दिया। ऑडिओ वायरल होने से पुलिस विभाग में हडकंप मच गया।
इस तरह हुई बातचीत।
पुलिस वाले ने खुद फोन कर पूछा, भाईया बिंदा प्रसाद बोल रहे है। फिर बताया कि वह थाना सोहरामऊ से सिपाही वसीम बोल रहे है। इसके बाद पूछा आपने पास्पोर्ट के लिए अप्लाई किया था, हां में जवाब मिला। इसके बाद बताया कि इन्क्वायरी आई है। सिपाही वासीम ने पासपोर्ट वेरिफिकेशन के लिए जरुरी कागजात लेकर थाने में आने के लिए कहा। साथ ही 1500 रुपये बतौर खर्च पानी ले आने की बात भी कही। जब उसने पैसे किस बात पर पड़ने के बाबत बात की तो सिपाही वसीम ने कहा पैसे लेकर आओगे तो रिपोर्ट लगेगी। नही तो विदेश नही जा पाओगे। इसके बाद पीड़ित का आरोप है कि वही थाने में ही तैनात महिला सिपाही मंशा ने पैसे न देने पर रिपोर्ट नही लगेगी की बात कही।इसी तरह भटकते रहोगे।
हसनगंज सीओ बोले
हसनगंज सीओ भीम कुमार गौतम से जब युवक ने बात की तो उन्होने लिखित शिकायत करने की बात कही। जिसके बाद जांच कर कड़ी कार्यवाही का अस्वाशन दिया। वही थानाध्यक्ष सोहरामऊ शिवकुमार ने इस बाबत बात करने पर कोई सटीक उत्तर नही दिया,उन्होंने कहा इसके लिये ऑफिस में ही बात करो और फोन काट दिया।
...रिपोर्ट : रजत द्विवेदी।

No comments