Ad

ads ads

Breaking News

पीजीआई में सुविधाओं का पड़ा अकाल




लखनऊ। संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान 'एसजीपीजीआई' का प्रशासन अत्यंत ढीला और लचर हो चुका है। जहां मरीजो का इलाज नही बल्कि लाइन लगवाने पर खासा जोर दिया जा रहा है।
बतादे कि यहां कार्डियोलॉजी विभाग में सुबह 4 बजे से कडकडाती ठंड में लाइन लगाए मरीजो का पुरसाहाल लेने वाला कोई नही है। तुगलकी नीति के कारण मरीजो का इलाज तो जब होगा तब होगा। फिलहाल इस वक्त तो आधे मरीज ठंड में ही ठंडे हो जायेगे। वही लोगों का कहना है कि इस संस्थान में समय की कोई कीमत नही है। मरीजो को त्वरित इलाज की सुविधा न देकर लाइन में खड़े होने को विवश किया जाता है। रजिस्ट्रेशन काउंटर, कैश काउंटर ,सैंपल कलेक्शन,आदि तो बानगी मात्र है,इसके साथ ही अव्यवस्थाओ का खुला नज़ारा देखना हो तो पीजीआई में जरूर आये। इतना ही नही, ओपीडी के बाथरूम भी सुबह 8 बजे खोले जाते है। यदि इस दौरान किसी मरीज को लघुशंका हुई तो भगवान ही मालिक है।

 

No comments