Ad

ads ads

Breaking News

तेज धमाके के साथ कुंभ में लगी आग

डेस्क। प्रयागराज के कुम्भ में अचानक आग लगने के समाचार प्राप्त हो रहे है। बताया जा रहा है कि यह घटना दिगंबर अखाड़े के टेंट में हुई है। यह आग बेहद तेज धमाके के साथ लगी। जो देखते ही देखते चारो तरफ फैल गई। आग लग जाने से करीब एक दर्जन के करीब टेंट जलकर खाक हो गए। इन टेंट में शरण लिए श्रद्धालुओं के कई सामान जल जाने की सूचना भी मिली है। वहीं बचाव दल में दमकलकर्मी और एनडीआरएफ की टीम मौके पर मौजूद है। और आग पर भी समय रहते काबू पा लिया गया है।
सूत्रों के अनुसार आग का कारण एलपीजी सिलेंडर बताया जा रहा है। टेंट में लोग खाना बनाने के लिए सिलेंडर का उपयोग करते हैं। आशंका जताई जा रही है कि खाना बनाते वक्त आग फैल गई और कई टेंट को अपनी चपेट में ले लिया। घटना दिगंबर अखाड़े की है जहां आसपास के 10 टेंट हादसे की चपेट में आ गए। हालांकि किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। प्रत्यक्षदर्शी एक साधु ने बताया कि नुकसान बहुत ज्यादा हुआ है और पिछली बार आग की जो घटना हुई थी। उससे चार गुना बड़ा हादसा इस बार हुआ है।
बताया जा रहा है कि एक तंबू में सिलेंडर से आग लगी थी। प्रशासनिक दावों के बाद भी घटनास्थल तक दमकल की गाड़ियों को 10 से 20 मिनट तक लग गए। जिससे हादसें ने भयावह रूप ले लिया। वहीं कुछ ने जल्द ही राहत कार्य शुरू किए जाने की बात कहीं है। एक श्रद्धालु ने बताया कि साधु जन खाना खाकर लेटे हुए थे तभी आग लग गई जिससे अफरा-तफरी का माहौल बन गया। अब वास्तव में आग के लगने के कारणों का पता जांच के बाद ही लग पाएगा। फिलहाल कुंभ के सूचना निदेशक शिशिर के अनुसार आग सिलेंडर में आग के कारण लगीं थी। जिस पर जल्द ही काबू पा लिया गया था। अब हालात बेहद सामान्य है। कुंभ आने वाले लोगों को टेंट से दूर सिलेंडर ले जाकर खाना बनाने की अनुमति रहती है। लेकिन टेंट के अंदर ऐसी कोई इजाजत नहीं है।
सूत्रों के अनुसार दमकलकर्मी घटनास्थल पर मौजूद हैं और आग के कारणों का पता लगा रहे हैं। सामान्य दिनां की अपेक्षा आज हवा भी काफी तेज है। पश्चिम से पूरब की तरफ हवाएं चल रही हैं जिसके चलते यहां की घास-फूस की झोंपड़ी और कुटिया में आग लग गई। खाने-पीने के सामान और कपड़े जल गए हैं। आग बुझाने के बाद दमकल गाड़ियों और कुछ एंबुलेंस को वापस भेज दिया गया है। हादसे की जगह व्यवस्था बहाल करने में पुलिसकर्मी और साधुजन लगे हैं।