Ad

ads ads

Breaking News

चुनाव की सरगर्मी-रैली के बीच मुद्दों की भिड़ंत में राहुल


डेस्क। राजस्थान विधानसभा चुनाव की सरगर्मी वैसे वैसे ही बढ़ती जा रही है। जैसे जैसे मतदान की तारीख नजदीक रही है। पूरे प्रदेश में चुनाव रैलियों का दौर अपने सबाब में है। इसी कड़ी में  कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को राजस्थान के दौरे पर हैं। सबसे पहले वह उदयपुर में कारोबारियों से रूबरू हुए और इस दौरान मोदी सरकार को कई मुद्दों पर घेरा। राहुल ने नोटबंदी से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक तक मोदी सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने पीएम मोदी को हिंदुत्व के मुद्दे पर भी घेरते हुए कहा कि वह किस तरह के हिंदू हैं। फिलहाल वे उसी हवा में बहते दिख रहे है। जिस में केंद्र में हुक्मरान उन्हे बहाना चाह रहे है। उसी सवालों के घेरे को तोड़ने की कोशिश कर रहे राहुल ने हिंदुत्व के मुद्दे पर पीएम नरेंद्र मोदी को घेरने की कोशिश की। राहुल ने कहा, हिंदुत्व का सार क्या है? गीता में क्या कहा गया है? इसका ज्ञान हर किसी को है, हर जगह ज्ञान फैला हुआ है। हर जीवित वस्तु के अंदर ज्ञान है। हमारे पीएम कहते हैं कि वह हिंदू हैं लेकिन वह हिंदुत्व की नींव को नहीं समझते। वह किस तरह के हिंदू हैं?
वहीं राहुल विपक्षी के घेरे को तोड़ने की कोशिश करते हुए कहने से नहीं चूके कि यूपीए सरकार के समय एनपीए दो लाख करोड़ रुपये था, मोदी सरकार के चार साल में एनपीए 12 लाख करोड़ रुपये हो गया। मोदी सरकार ने उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया। कुल 15 उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया गया है, ये सरकार करोड़ों हिदुस्तानियों का कर्ज क्यों नहीं माफ करती है। बड़े लोगों का कर्जा छुपाकर माफ किया जा रहा है।

उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी के बारे में हिन्दुस्तान की जनता को भ्रमित करने का आरोप लगाते हुए घेरने की कोशिश की। उन्होने रैली के दौरान कहा कि नोटबंदी एक स्कैम है। इसका लक्ष्य छोटे उद्योगों की रीढ़ की हड्डी को तोड़ना था। चाहे नोटबंदी हो या गब्बर सिंह टैक्स, इनका लक्ष्य बड़ी-बड़ी कंपनियों का रास्ता खोलना था। इसका मकसद था कि हिंदुस्तान के बड़े 15 उद्योगपतियों को मौका दिया जाए। राहुल ने कहा कि यह  एक गलत धारणा है कि प्राइवेट सेक्टर एजुकेशन संस्थान बेहतर हैं। इस देश को सरकारी हेल्थकेयर सेवाओं के बिना नहीं चलाया जा सकता। हिंदुस्तान के सबसे बेहतरीन संस्थान सरकारी हैं। सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर राहुल ने कहा कि मोदी सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीतिक बना दिया। मोदी सरकार ने इसका फायदा उठाया। मनमोहन सिंह सरकार ने तीन बार सर्जिकल स्ट्राइक की, क्या आपको इसकी जानकारी है?
7 दिसंबर को मतदान
बता दें कि राजस्थान में 7 दिसंबर को मतदान होना है। मतगणना बाकी राज्यों के साथ 11 दिसंबर को होगी। इस बार भी यहां मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच है। सीएम वसुंधरा राजे इस बार अकेले ही कई चुनौतियों से जूझ रही हैं। वहीं, कांग्रेस कद्दावर नेताओं की एकजुटता के दम पर मैदान में उतरी है। सचिन पायलट और अशोक गहलोत के अलावा के बड़े नेता चुनाव लड़ रहे हैं।