Ad

ads ads

Breaking News

13 दिन बाद भी नहीं निकल सके 300 फीट गहरी खाई में फंसे15 लोग


डेस्क। गुफा में फंसने का मामला एक बार फिर सुर्खियों में छाया हुआ है। यह मामला और कही का नहीं बल्कि अपने ही वतन के मेघालय राज्य का है। गौरतलब हो कि थाइलैंड में इसी वर्ष जून में फंसे 12 फुटबाल खिलाडि़यों को एक माह बाद गुफा से निकालने की खबरों ने पूरी दुनिया में सुर्खियां बटोरी थीं। लेकिन अब इसी तरह की घटना उत्‍तर-पूर्वी भारत के राज्‍य मेघालय में देखने को मिल रही है। यहां की एक 300 फीट गहरी गुफा में 13 दिसंबर से करीब 15 लोग फंसे हुए हैं। इन लोगों के यहां फंसे होने की खबर भी कुछ दिनों के बाद सामने आई। इस गुफा में फंसे यह 15 लोग दरअसल मजदूर हैं तो अवैध तरीके से कोयला निकालने के लिए घुसे थे। लेकिन उनकी कुछ किस्मत ही खराब थी कि माइन में पानी भर गया। जिससे वे इससे बाहर नहीं निकल पाए और इसमें अंदर फंसते ही चले गए। जिसके बाद वे उससे उबर नही सके। 

बचाव दल को नहीं मिली कामयाबी
अब इन 15 लोगों को निकालने के लिए बचावकार्य चलाया जा रहा है, लेकिन अब तक इसमें बचावकर्मियों को कोई कामयाबी नहीं मिल सकी है। बचावकर्मियों के लिए यहां पर सबसे बड़ी परेशानी गुफा की गहराई और इसमें करीब 70 फीट तक भरे पानी से हो रही है। इसके अलावा दूसरी दिक्‍कत इन बचावकर्मियों के पास जरूरी इक्‍यूपमेंट की कमी भी है।

अवैध खदान के समीप बहती नदी से माइन में भरा पानी
आपको बता दें कि इस गुफा के पास से एक नदी गुजरती है, जिसका पानी इसमें भर गया है। इन अवैध खदानों को यहां की लोकल भाषा में रेट हॉल्‍स कहा जाता है। यहां पर पहुंचने का रास्‍ता भी बेहद दुर्गम है। कहा जा रहा है कि यहां पर अवैध कोयला निकालने का धंधा नियमों को ताक पर रखते हुए स्‍थानीय नेताओं की देखरेख में काफी समय से चल रहा है। यह कारोबार लगातार यहाॅ पर बढ़ता ही जा रहा है।

No comments