Ad

ads ads

Breaking News

ग्रामीणों ने बंधक महिलाओं को छुड़ा जवानों के हथियारों पर किया कब्ज़ा

लखीमपुर खीरी। इंडो नेपाल सीमा पर स्थित गौरी फंटा रेंज की कीरतपुर चौकी मे तैनात एसटीपीएफ के जवानो द्वारा महिलाओं से अवैध वसूली के उद्देश्य से बंदूक की नोक पर जबरन बंधक बनाये जाने से आक्रोशित ग्रामीणो ने उक्त जवानो पर हमला बोल दिया। ग्रामीणों ने  बंधक महिलाओ को छुड़ाकर आत्मरक्षा के लिए जवानो के हथियारों को कब्जे मे ले लिया। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची  पुलिस ने जवानो को पकड़कर कर कोतवाली ले आयी तथा ग्रामीणो को समझा-बुझा कर हथियार वापस दिलाये ।
मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीणो ने जवानों पर आरोप लगाते हुए बताया कि दोपहर बनगवाॅ गांव की कुछ महिलाये मछली पकड़ने के लिए कोतवाली के निकट स्थित तालाब गई थी। इसी दौरान वहां एसटीपीएफ के तीन जवान परवेज, सत्य प्रकाश तथा योगेन्द्र कुमार पहुंचे और महिलाओं पर सरकारी असलहे तानते हुए घुटने के बल बैठ जाने को कहा और हाथ पैर बांधकर बंधक बना लिया। जब महिलाओ ने इसका विरोध किया तो उन्होंने छोड़ने के एवज मे तीस हजार रुपये की मांग की। मांग पूरी न होने पर फर्जी केस बनाकर जेल भेजने की धमकी दी। जिससे घबराई महिलाओ ने पैसे की व्यवस्था करने की बात कही, जिसपर जवानो ने पैसा लाने के लिए दो लोगो को छोडदिया। महिलाओं ने गांव पहुंच कर उक्त घटना की जानकारी ग्रामीणो की दी। जिससे आक्रोशित ग्रामीणो ने मौके पर जाकर महिलाओ को छुड़ाने के लिए बात करनी चाही तो नशे मे धुत जवानो ने जातिसूचक गालिया देते हुए मारपीट करना शुरू कर दिया । जिससे गुस्साये ग्रामीणो ने आत्मरक्षा करते हुए असलहे कब्जे मे कर जवानों को बंधक बनाकर पुलिस के हवाले कर दिया। वही वन विभाग के डीडी दुधवा ने टीम को जांच के लिए भेज दिया है, जो भी दोषी होगा उस पर कार्यवाही की जाएगी।
...रिपोर्ट - हिमांशु श्रीवास्तव,लखीमपुर खीरी।

No comments