Ad

ads ads

Breaking News

कंडक्टर से महानायक बने रजनीकांत


डेस्क। बतौर बस कंडक्टर अपने करियर की शुरुआत कर दक्षिण भारतीय फिल्मों के महानायक बनने वाले रजनीकांत को यह मुकाम पाने के लिये कड़ा संघर्ष करना पड़ा था। बेंगलुरु में 12 दिसंबर 1950 को जन्मे रजनीकांत का मूल नाम शिवाजी राव गायकवाड़ था।

वह बचपन से ही फिल्म अभिनेता बनना चाहते थे। शुरुआती दौर में रजनीकांत ने बस कंडक्टर के रूप में काम किया। इस दौरान उन्होंने रंगमंच पर कुछ नाटकों में अभिनय भी किया। इसी दौरान तमिल फिल्मों के मशहूर निर्देशक के, बालचन्द्र ने एक नाटक में रजनीकांत के अभिनय से काफी प्रभावित हुए। वर्ष 1975 में के,बालचंद्र के निर्देशन में बनी तमिल फिल्म अपूर्वा रागांगल से रजनीकांत से अपने सिने करियर की शुरुआत की।

इस फिल्म में कमल हासन ने मुख्य भूमिका निभायी थी। वर्ष 1978 में प्रदर्शित तमिल फिल्म भैरवी में रजनीकांत को बतौर मुख्य अभिनेता के रूप में पहली बार काम करने का अवसर मिला। यह फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी। साथ ही रजनीकांत भी सुपरस्टार बन गये। वर्ष 1980 में रजनीकांत की एक और सुपरहिट फिल्म बिल्ला प्रदर्शित हुयी। बिल्ला अमिताभ की सुपरहिट फिल्म डॉन की रीमेक थी।

No comments