Ad

ads ads

Breaking News

ग्राम पंचायत कार्यालय बना जंगल



लखीमपुर खीरी। जनपद के मोहम्मदी विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत रछेला वाजिदपुर के बुझारी गांव में बने ग्राम पंचायत कार्यालय की स्थापना वर्ष 2006-07 में हुई थी। जिसका निर्माण कार्य निर्माण प्रभारी ओम श्रीदेवी व ग्राम सभा सदस्य मुनेंद्र सिंह के कार्यकाल में हुआ था। 
बतादे कि पंचायत कार्यालय के निर्माण कार्य में करीब 1400000 औसतन लागत के खर्च में 3 कमरे बने थे। जिसके बाद लाइट फिटिंग व पंखे खिड़कियों में शीशे पानी की टंकी व हैंडपंप लगवाकर कार्य पूरा कराया गया था। जिसके बाद से लगातार बदले ग्राम प्रधानों ने पंचायत कार्यालय की जरा भी ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते पंचायत कार्यालय आज जंगल खड़ा हो गया है। 
वही गांव में हुई मीटिंग के दौरान विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह से बुझारी गांव के संदीप सिंह, यादवेंद्र सिंह व श्याम पाल सिंह ने पंचायत कार्यालय की साफ -सफाई के बारे में कहा तो विधायक जी ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि यह ग्राम प्रधान का काम है आप उनसे बात करिये। लोगों का कहना है कि जब कार्यालय बना था उस समय उसकी साफ-सफाई व रख-रखाव की जिम्मेदारी उस समय के ग्राम प्रधान मुनेंद्र सिंह द्वारा की जा रही थी। 
लेकिन इसके बाद दूसरी पंचवर्षी में प्रधान मीना देवी रछेला वाजिदपुर बनी और उन्होंने पंचायत कार्यालय की तरफ जरा भी रुख न करते हुए कोई साफ-सफाई नहीं करवाई पंचायत कार्यालय जैसे का तैसा पड़ा रहा। वही तीसरी पंचवर्षी में आरवी उर्फ वरुण सिंह प्रधान ग्राम निवासी बुझारी ग्राम सभा रछेला वाजिदपुर बने उन्होंने भी पंचायत कार्यालय की तरफ जरा भी ध्यान नहीं दिया। जिसके बाद पंचायत कार्यालय में आए दिन चोरियां भी होती रहती, चोरों ने कार्यालय की खिड़कियां तोड़  कर छत में लगे पंखे व अन्य सामान उठा कर पार कर दिया। लेकिन उस पर आजतक न तो किसी ने ध्यान दिया और न ही कोई सफाई हुई,जिसके चलते पंचायत कार्यालय एक जंगल कार्यालय बनकर रह गया।
...रिपोर्ट - हरिओम सिंह (लखीमपुर खीरी)