Ad

ads ads

Breaking News

पत्नी को विधवा पेंशन मिलती देख पति बौराया

-पीड़ित पति द्वारा शिकायत पर 22 मामलों का हुआ खुलासा 

डेस्क। आठ माह पहले शादी हुई, पत्नी के खाते में विधवा पेंशन का पैसा पहुंचने की जानकारी मिली तो पैरों तले से जमीन खिसक गई। पेंशन की रकम पत्नी के मायके के पते पर खुले खाते में भेजी गई है। पत्नी से इस बारे पूछताछ कर ही रहा था कि पता चला कि सास, साली समेत गांव की ही 22 महिलाओं के खाते में भी फर्जी ढंग से विधवा पेंशन का पैसा आया है। जबकि सभी के पति जिंदा हैं। अब पति खुद के जीवित होने का सुबूत लेकर अफसरों के यहां दौड़ लगा रहा है। सरकारी योजनाओं के पैसे को कुछ दलाल किस तरह बंदरबांट कर रहे हैं यह उसी की एक बानगी है
सीतापुर के बट्सगंज के रहने वाले संदीप कुमार महमूदाबाद ब्लॉक के जाफरपुर गांव में सफाई कर्मी है। आठ माह पूर्व जिले के परसेंडी ब्लॉक के शेरपुर सरांवा में रोहन लाल की पुत्री प्रियंका से उसकी शादी हुई थी। जब संदीप ने ससुराल में अपनी पत्नी के बैंक खाते की डीटेल निकलवाई तो पता चला कि गत 28 सितंबर को पीएफएमएस 'पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सिस्टम' के जरिये तीन हजार रुपये भेजे गए थे। पूछताछ पर पता चला कि यह राशि प्रोबेशन विभाग से विधवा पेंशन के तौर पर भेजी गई है।
संदीप ने जिला प्रोबेशन अफसर को जानकारी दी कि मेरे जीवित रहते हुए ही मेरी पत्नी के खाते में विधवा पेंशन भेजी जा रही है। उन्होंने जब कोई कार्रवाई नहीं की तो डीएम से शिकायत की। साथ ही कहा कि इस मामले पर उन्हें धमकियां मिल रही हैं। संविदाकर्मी को नौकरी से निकाला गया इस पर जिला प्रोबेशन अधिकारी अश्वनी कुमार का कहना है कि प्रियंका को विधवा पेंशन दिए जाने के मामले की जांच की गई। इसमें दफ्तर में नियुक्त संविदा कर्मचारी सौरभ की संलिप्तता पाई गई है। उसे नौकरी से निकाल दिया गया है। इस संबंध में डीडीओ व सीडीओ को भी जानकारी दी गई है। अन्य मामलों की जांच की जा रही है।