Ad

ads ads

Breaking News

उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत आयोजित किया गया मेगा कैंप

लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा महिला स्वयं सहायता समूहों एवं ग्राम संगठनों हेतु आर0एफ0, सी0आई0एफ0, वी0आर0एफ0, आजीविका फण्ड, तथा ग्राम संगठन स्टार्टअप कास्ट वितरण हेतु मेगा कैम्प का आयोजन हुआ। इस अवसर पर सांसद अजय मिश्र टेनी, जिला अधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी रवि रंजन, इलाहाबाद यू0पी0 ग्रामीण बैंक के आर0एम0, डी0डी0एम0 नाबार्ड अजय सिंह मुख्य रूप से मौजूद रहे। कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रार्थना इतनी शक्ति हमे दे न दाता, मन का विश्वास कमजोर न होना से की गई।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि सांसद अजय मिश्र टेनी जी ने स्वयं सहायता समूहों के कार्यो की सराहना की और स्वयं सहायता समूहों के द्वारा किये जा रहे कार्यों एवं समूहों की एकजुटता के बारे में बताया। उन्होनें कहा कि यह अपने आप में बहुत बड़े बदलाव की ओर इशारा करता है की महिलायें अपनी गरीबी से निकलने के पूरी तरह से तैयार हैं। जिला अधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये कहा कि महिलायें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने के लिए स्वरोजगार अपनायंे और अपने जीवन में समृद्धि लाने के लिए कार्य करे। 
मुख्य विकास अधिकारी रवि रंजन ने कहा कि एन0आर0एल0एम0 के अन्तर्गत महिलायें बहुत अच्छा कार्य कर रही है। महिलाये आजीविका के क्षेत्र में और भी अच्छा कार्य करें इसके लिए आप सभी को हमारी शुभकामनायें हैं। स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को शौचालय बनाने के लिए सरकार की योजनाओं पर निर्भर नही रहना चाहिए बल्कि स्वयं के स्तर से शौचालय बनाने के लिए प्रेरित होना चाहिए क्योकि स्वयं सहायात समूह अपनी आजीविका को समृद्ध करने के लिए समर्थ है।
इसके पहले एन0आर0एल0एम के उपायुक्त स्वतः रोजगार निर्मल द्विवेदी ने मेगा कैम्प के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये बताया कि वित्तीय वर्ष 2014-15 से लेकर वित्तीय वर्ष 2017-18 तक इन्टेशिव विकास खण्डों एवं नान इन्टेन्शिव विकास खण्डों मं कुल 7182 समूहों का गठन किया जा चुका है। इस कार्यक्रम मेे कुल 72000 परिवारों को समूहों से अच्छादित किया जा चुका हैं। इन स्वयं सहायता समूहों को एन0आर0एल0एम0 के द्वारा वित्तीय समावेशन के अन्तर्गत 7,21,95,000.00 रूपये की आजीविका गतिविधियों एवं अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु सहायाता दी गई है और समूहों के कैडरों के बारे में जानकारी दी गई।
 सांसद ने कुल 43 समूहों का रिवाल्विंग फण्ड के रूप में 21,45,000.00 रूप्यें की सहायता दी गई। कुल 328 समूहों को सामुदायिक निवेश निधि के रूप में 36080000.00 रूपयें की सहायता का वितरण किया गया। कुल 29 ग्राम संगठनों को 58000000.00 रूप्यें की धनराशि वितरित की गई जिससे समूह के सदस्य आजीविका गतिविधियों को सम्पादित कर सकें। जोखिम निवारण निधि के रूप में 27 ग्राम संगठनों को 2283300.00 का वितरण किया गया है। समूहों के स्टार्ट अप फण्ड के रूप में 700 स्वयं सहायता समूहों को कुल 1750000.00 धनराशि का वितरण आज के मेगा कैम्प में किया गया। इसके साथ ही अन्त सुधीर सिंह प्रोग्राम मैनेजर मानिटरिंग एवं मूल्यांकन राज्य मुख्यालय के द्वारा कार्य के सफल संचालन के लिए सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर एनआर,एलएम के जिला प्रबन्धक, ब्लाक मैनेजर, एन0आर0ओ0 स्टाफ और सहायत विकास अधिकारी, डी0आर0पी0 सभी लोग उपस्थित रह कर कार्यक्रम में पूरा सहयोग प्रदान किया।
...रिपोर्ट - हिमांशु श्रीवास्तव। (लखीमपुर खीरी)