Ad

ads ads

Breaking News

उन्नाव ग्राम पंचायत की खुली बैठक में ग्रामीणों ने खोली झूठे विकास की पोल



उन्नाव। जहां एक तरफ प्रदेश सरकार गाँवो में गरीबो के विकास के लिए संकल्प बद्ध है, तो वही दूसरी ओर जब जमीनी आकंलन किया जाता है, तो सच्चाई कुछ और ही बयां करती है। ऐसा ही माजरा विकास खंड बिछिया के ग्राम पंचायत तौरा में देखने को मिला। ग्राम में विकास कार्यों के पहाड़ जैसे आंकड़े अधिकारियों की मिलीभगत से खाली कागजों पर ही बना डाले गए।


जनपद की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत तौरा के मजरा-नौगावां में कुछ ऐसा ही नजारा देखने को उस समय मिला जब ग्राम पंचायत की एक खुली बैठक में ग्राम विकास अधिकारी रामप्रकाश दीक्षित से स्थानीय निवासियों ने गाँव में विकास कार्यो की हकीकत से रूबरू कराते हुए अपना आक्रोश व्यक्त किया। ग्रामीणों ने विगत कई वर्षों से गाँव की उपेक्षा करने किये जाने को लेकर प्रशासनिक स्टार को भी जिम्मेदार ठहराया।


ग्रामीणों ने कि गाँव में राशन कार्ड, पेंसन, कालोनी, नाली खड़ंजा, सहित अनेक समस्याए आम सी हो चली हैं। ग्राम के मुख्य मार्ग पर बाजार से लेकर शिक्षा केंद्रों में घोर लापरवाही का आलम बना हुआ है। वहीँ इस दौरान ग्रामीणों ने समस्याओं से अधिकारी को अवगत कराया। इस दौरान ग्राम विकास अधिकारी ने दिए जल्द ही अधूरे पड़े कामो को पूरा करने का आश्वासन दिया। गाँव के ही अनुज यादव ने गांव में वृद्धावस्था पेंशन, और कालोनी, सहित नाली निर्माण में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए ग्रामीण स्तर पर रुके विकास कार्यों को शुरू करने की बात कही । जिस पर सेक्रेटरी दीक्षित ने जल्द ही उन्हें पूरा कराने का भरोसा दिया। बैठक में प्रमुख रूप से अनुज यादव,सुर्यपाल, संदीप,लल्लन,गोबर्धन, गंगा विशुन, इन्द्रपाल, नीरज, बैजनाथ, डोरीलाल सहित अनेक गाँव के लोग मौजूद रहे।