Ad

ads ads

Breaking News

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर आयोजित बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में बदइंतजामी के चलते गई एक छात्रा की जान


हरदोई। जनपद में अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर आयोजित बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, के हुए कार्यक्रम में बदइंतजामी के चलते एक छात्रा की जान चली गई। आर्य कन्या पाठशाला की कक्षा नौ की छात्रा सुप्रिया शर्मा की कार्यक्रम के बाद घर पहुंचने पर तबियत बिगड़ी, जिस पर परिजनो ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां शुक्रवार सुबह छात्रा की मौत हो गई।
 
बतादे कि जनपद के कोतवाली क्षेत्र के आशा नगर मोहल्ला निवासी नरेश चंद शर्मा की बेटी सुप्रिया शर्मा पिहानी चुंगी स्थिति आर्य कन्या पाठशाला में कक्षा नौ की छात्रा थी, परिजनों के अनुसार गुरुवार सुबह आठ बजे सुप्रिया  स्कूल गई थी, जहां से उसे अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर जिला प्रसाशन द्वारा आयोजित बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में जीआईसी में ले जाया गया। 

कार्यक्रम स्थल पर तेज धूप में घंटों बैठने के बाद सुप्रिया जब घर लौटी तो उसे तेज बुखार आ गया। परिजनों ने सुप्रिया की लगातार तबियत बिगड़ती देख रात में ही उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल ले गए, जहां शुक्रवार तड़के सुबह सुप्रिया की मौत हो गई, सुप्रिया की मौत के बाद पिता नरेश चंद्र शर्मा ने जिला प्रशासन को इसका जिम्मेदार बताया। उन्होंने जिला प्रशासन को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि कार्यक्रम में तेज धूप थी, पानी का कोई इंतजाम नहीं था, जिसकी वजह से उसकी तबियत खराब हो गई।

वहीं रिकार्ड बनाने की वाहवाही लूटने वाले जिलाधिकारी पुलकित खरे अब बदइंतजामी और लापरवाही के आरोपों के बाद खुद पल्ला झाड़ रहे हैं, मीडिया से बात करने के लिए जिला प्रसाशन की तरफ से इस मामले में बेसिक शिक्षा अधिकारी ने पक्ष रखा है, बेसिक शिक्षा अधिकारी के मुताबिक पूरा कार्यक्रम सही तरह से संपन्न हुआ और कार्यक्रम स्थल पर पानी से लेकर मेडिकल की सभी तरह की सुविधा के इंतजाम प्रसाशन की तरफ से किए गए थे।