Ad

ads ads

Breaking News

एयरफोर्स का एयरक्राफ्ट क्रैश,महिला व पुरुष पायलट ने पैराशूट से कूदकर जान बचाई


बागपत। सुबह यहां के एक जंगल में इंडियन एयरफोर्स का टू-सीटर माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट क्रैश हो गया। इस बड़े हादसे में आहत भी नहीं है। विमान का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ है। महिला व पुरुष पायलट ने पैराशूट से कूदकर जान बचाई। इसके दोनों पायलट सुरक्षित हैं। इस हादसे के बाद वायुसेना ने जांच के आदेश दे दिए हैं। बागपत के रंछाड़ गांव में सुबह एयरफोर्स का टू-सीटर माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट प्लेन क्रैश हो गया और गन्‍ने के खेत में गिर गया। विमान के गिरते ही क्षेत्र में अफरातफरी मच गई। दोनों पायलेट सुरक्षित हैं। इनमें एक महिला पायलट है।
एयरफोर्स के अधिकारी भी हेलीकाप्‍टर से मौके पर पहुंच गए हैं। सुबह एयरफोर्स का टू-सीटर माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट हिंडन एयरबेस से उड़ान पर था। सुबह, 9:45 बजे बड़ौत तहसील के रंछाड़ गांव के ऊपर से गुजर रहा था, लेकिन अचानक क्रैश होकर नीचे की ओर आने लगा। विमान को नीचे की और आता देख खेतों में काम कर रहे किसानों में खलबली मच गई और वे जान बचाने को इधर-उधर दौड़े। 
पलभर में ही यह विमान आनंद शर्मा के खेत में गिर गया। इस टू-सीटर माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट में एक पायलट महिला जबकि दूसरा पुरुष था। दोनों ने पैराशूट से कूदकर जान बचाई। मौके पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई। हिंडन एयरफोर्स से अधिकारी हेलीकॉप्टर से मौके पर पहुंच गए और जांच पड़ताल शुरू कर दी। एसपी शैलेश कुमार पांडेय भी फोर्स के साथ पहुंच गए। छानबीन जारी है। एसपी का कहना है कि रंछाड़ गांव में टू-सीटर माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट गिरते ही पुलिस तत्‍काल मौके पर पहुंची। किसी तरह का जान का नुकसान नहीं हुआ है। पता लगाया जा रहा है कि क्रैश का कारण क्या हो सकता है। वाजिदपुर में भी चार अक्टूबर को आसमान से उड़ता हुआ एक णयरक्राफट नीचे आया तो और गोलानुमा चीजें नीचे गिरी थीं। पहले रोशनी हुई थी और बाद में धुआं हो गया था। दो दिन पूर्व मेरठ के माछरा में भी विमान से दो घरों में गोले गिरे थे। माना जा रहा है कि आठ अक्टूबर को वायु सेना दिवस को लेकर यह एयरक्राफट प्रैक्टिस में था और क्रैश हो गया। विमान ने गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस से उड़ान भरी थी, लेकिन बागपत में विमान क्रैश हो गया। विमान बागपत के खेतों वाले इलाके में क्रैश हुआ है। टू-सीटर प्लेन एयरफोर्स डे की तैयारी में जुटा था। एयरक्राफ्ट हिंडन एयरबेस का है। यह एयरक्राफ्ट एयरफोर्स डे की तैयारी में लगा था और इसने हिंडन एयरबेस से उड़ान भरी थी। जंगल में इस हादसे की सूचना पर पुलिस के साथ ही जिला प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची। पायलटों से जानकारी ली जा रही है कि आखिर ये प्लेन कैसे क्रैश हो गया। ग्रामीण भी मौके पर भारी संख्या में जमा हो गए हैं। इसको भारतीय वायुसेना के इस टू-सीटर विमान की फोर्स लैंडिंग बताया जा रहा है। दोनों पायलट सुरक्षित हैं। अभी ये पता नहीं चल पा रहा है कि आखिर ये कैसे गिर गया। जैसे ही घटना के बारे में पता चला वैसे ही हादसे वाली जगह पर जिले के तमाम प्रशासनिक अधिकारी पहुंच गए। अभी भी वहां फायर ब्रिगेड आदि मौजूद है। 

साभार - जनता की आवाज।