Ad

ads ads

Breaking News

पुलिस भर्ती में इस बार नहीं होगा कोई साक्षात्कार,मिलेगी आयु सीमा में छूट



लखनऊ । पुलिस में भर्ती होने का सपने संजोये युवाओं के लिए अच्छा समय आ गया है। 56880 पदों पर भर्ती की घोषणा के अलावा फायरमैन, बंदीरक्षक व घुड़सवार पुलिस के पदों पर भर्तियां होंगी। इस भर्ती में कोई साक्षात्कार नहीं होगा। सिपाही भर्ती का आवेदन एक नवंबर से किया जा सकेगा और जनवरी माह में लिखित परीक्षा होगी। वर्तमान में पुलिस विभाग में सिपाही के पद पर करीब 42 प्रतिशत रिक्तियां हैं। नई भर्तियों के बाद यूपी पुलिस में अवकाश व लंबी ड्यूटी की समस्या निपटने की उम्मीद है। प्रमुख सचिव गृह ने भर्ती में कोई साक्षात्कार नहीं होने की बात कही है। हालांकि आरक्षण के सभी नियम लागू होंगे।

यह होंगी तिथियां 
सिपाही भर्ती एक नवंबर से 30 दिसंबर 2018 के मध्य अभ्यर्थी कर सकेंगे ऑनलाइन आवेदन। चार और पांच जनवरी 2019 को दो-दो पालियों होगी लिखित परीक्षा। परिणाम जून 2019 के तीसरे सप्ताह तक घोषित होगा। पांच नवंबर से चार दिसंबर 2018 के बीच होगा ऑनलाइन आवेदन। 10 जनवरी 2019 को होगी परीक्षा। जुलाई 2019 में आयेगा परिणाम।

बंदी रक्षक भर्ती पांच नवंबर से चार दिसंबर 2018 के मध्य ऑनलाइन आवेदन। आठ व नौ जनवरी 2019 को होगी परीक्षा। जुलाई 2019 में आयेगा परिणाम। इसी परीक्षा के साथ घुड़सवार पुलिस की भी होगी परीक्षा। 32 हजार पदों पर सिविल पुलिस के आरक्षियों की परीक्षा में 20 प्रतिशत पद महिला आरक्षियों के लिए आरक्षित होंगे। इसके अनुरूप 6400 महिलाओं के लिए पुलिस में भर्ती होने का मौका है। 

मिलेगी आयु सीमा में छूट 
पिछली अंतिम पुलिस भर्ती के दौरान पात्र अभ्यर्थियों को नई भर्ती में आयु सीमा में छूट भी मिलेगी। प्रमुख सचिव गृह के अनुसार वर्ष 2018 में आर्हता से बाहर हो गये अभ्यर्थियों को एक अवसर मिलेगा। नियमावली के अनुसार भर्ती के लिये जो आर्हतायें होंगी, उनमें एक जुलाई 2018 को अभ्यर्थी की आयु 18 वर्ष से कम नहीं और 22 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिये। लेकिन वर्ष 2017 में उच्चतम न्यायालय में किये गये वादे के अनुसार उप्र पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड एक जुलाई 2017 को आर्हता से बाहर हो गये अभ्यर्थियों को भी मौका देगा। सरकार ने वर्ष 2017 में न्यायालय में हर वर्ष 30 हजार सिपाहियों की भर्ती किये जाने की बात कही थी, लेकिन वर्ष 2017 में कोई भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं हुई थी। ऐसी स्थिति में जो अभ्यर्थी वर्ष 2017 में आर्हता पूरी कर रहे थे और वर्ष 2018 में आर्हता से बाहर हो रहे हैं, उन्हें दोबारा मौका दिया जायेगा।