Ad

ads ads

Breaking News

गणेश चतुर्थी आज,ऐसे करें गणेश जी की स्थापना




डेस्क। गणेश चतुर्थी की शुरुआत आज से हो रही है जोकि 23 सितंबर तक चलेगी। गणेश चतुर्थी में गणेश जी की पूजा होती है। गणेश उत्सव भाद्रपद मास की चतुर्थी से चतर्दर्शी तक यानी दस दिनों तक चलता है। गणेश चतुर्थी के दिन लोग गणपति बप्पा की घर में स्थापना करते हैं। 

गणेश चतुर्थी पूजा का शुभ मुहूर्त 
13 सितंबर मध्याह्न गणेश पूजा का समय सुबह 11:03 से दोपहर 13:30 
13 सितंबर को चन्द्रमा न देखने का समय सुबह 9:31 से रात 21:12

धार्मिक मान्यता है कि गणेश जी की पूजा करने से किसी भी शुभ कार्य में कोई विघ्न, बाधा नहीं आती है। इसलिए हर कार्य में सबसे पहले गणपति की पूजा करने का विधान है। 

ऐसे करें गणपति जी को स्थापित
गणपति को घर में स्थापित करने से पहले पूजा स्थल की सफाई करें। फिर एक साफ चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर उस पर अक्षत रखें और गणपति को स्थापित करें। इसके बाद गणपति को दूर्वा या पान के पत्ते की सहायता से गंगाजल से स्नान कराएं। पीले वस्त्र गणपति को अर्पित करें या मोली को वस्त्र मानकर अर्पित करें। इसके बाद रोली से तिलक कर अक्षत लगाएं, फूल चढ़ाएं और मिष्ठान का भोग लगाएं।
 

इन चीजों का रखें ध्यान 
जल से भरा हुआ कलश गणेश जी के बाएं रखें। चावल या गेहूं के ऊपर स्थापित करें। कलश पर मौली बांधें एवं आमपत्र के साथ एक नारियल उसके मुख पर रखें। गणेश जी के स्थान के सीधे हाथ की तरफ घी का दीपक एवं दक्षिणावर्ती शंख रखें। गणेश जी का जन्म मध्याह्न में हुआ था, इसलिए मध्याह्न में ही प्रतिष्ठापित करें। 10 दिन तक नियमित समय पर आरती करें। पूजा का समय नियत रखें। जाप माला की संख्या भी नियत ही रखें। गणेश जी के सम्मुख बैठकर उनसे संवाद करें। मंत्रों का जाप करें। अपने कष्ट कहें। शिव परिवार की आराधना अवश्य करें यानी भगवान शंकर और पार्वती जी का ध्यान अवश्य करें।

No comments