Ad

ads ads

Breaking News

संक्रामक रोगों की चपेट में आने से आधा सैकड़ा लोग बीमार, नहीं मिल पा रही सरकारी सहायता


चकलवंशी/उन्नाव। माखी थाना क्षेत्र के मोल्हे खेड़ा में संक्रामक रोगों के हमले से करीब आधा सैकड़ा लोग बीमार हो गए। बुखार के साथ टांसिल का फूलने के कारण सांस लेने में दिक्कत जैसी भारी बीमारियों से बच्चे ग्रसित हो रहे है। जिसके चलते एक लडकी की मौत भी हो चुकी है। अभी भी तीन दर्जन से अधिक लोग बीमारी का शिकार बने हुए है। टांसिल से मौत के बाद गांव में दहसत व्याप्त है। सरकारी सहायता ने मिलने पर ग्रामीण निजी चिकित्सक से इलाज कराने को मजबूर हो रहे है
 
थाना क्षेत्र के भदेवना के मजरा मोल्हे खेड़ा में संक्रामक रोगों ने पांव पसार लिया है। बीमारी को लेकर गांव के सुरेश ने बताया कि बेटी राधिका (7) को करीब एक सप्ताह से बुखार आ रहा था। उसके बाद उसके टांसिल में सूजन आ गयी। जिसके चलते जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है। इसी तरह गांव के नंदनी,प्रियंका, सुनील, दिलीप, प्रांशू, अंकित, अभिषेक, शिवांशी, कैलाश, संतराम, ज्ञानू, संतोषी, आदर्श, रामजी, लक्ष्मी, सचिन, रामसिंह, प्रदीप, अर्जुन, मिलन, सौरभ, शिव शंकर, धर्मपाल समेत लगभग आधा सैकड़ा लोग बीमारी की चपेट में हैं। ग्रामीणों ने बताया कि बाढ़ में गांव के अंदर कीचड युक्त पानी भरा था। जिसके कारण संक्रमण फैल गया है। बताया जा रहा है कि लोगों को पहले बुखार आता है फिर गले में दर्द के बाद सूजन आ जाती है, जिससे सांस लेने में काफी कठिनाई होती है। इसी के चलते बच्ची की मौत भी हो चुकी है, लोगों ने बताया कि सरकारी सहायता न मिलने की वजह से लोग निजी चिकित्सक से इलाज कराने को मजबूर हैं। 

... रिपोर्ट - सनी सिंह। (चकलवंशी उन्नाव)  

No comments