Ad

ads ads

Breaking News

यूपी के कई शहरों में दिख रहा भारत बंद का असर



डेस्क। एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में तमाम सवर्ण संगठनों ने गुरुवार को भारत बंद बुलाया है।  इसके मद्देनजर राजधानी लखनऊ समेत उत्तर प्रदेश के कई जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। दरअसल, इसी साल 2 अप्रैल को एससी,एसटी में बदलाव को लेकर दलितों ने भारत बंद बुलाया था। उस दौरान जमकर हिंसा, आगजनी और तोड़फोड़ हुई थी। इसीलिए प्रशासन ने सभी जिलों को सतर्क रहने को कहा है। यूपी के इलाहाबाद, आजमगढ़, गोरखपुर, कानपुर, आगरा, मथुरा, मेरठ, कासगंज, हापुड़, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर समेत तमाम जिलों के पुलिस कप्तानों को अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया गया है। 

भारत बंद का असर कई अन्‍य जिलों में भी देखने को मिल रहा है। आगरा में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोक दी, इटावा डीएमयू ट्रेन को थाना पिनाहट इलाके में भदरौली के पास रोका गया है। आगरा जिले में बंद को देखते हुए निजी स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है। कलेक्ट्रेट के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का दौरा भी रद्द हो गया है। अधिवक्ता संघ ने बंद का समर्थन किया है।

वही वाराणसी में सवर्णों द्वारा भारत बंद के आह्वान पर कई संगठन सड़कों पर उतर गए है। और बीएचयू के हैदराबाद गेट को लोगों ने जाम कर दिया।  हर चौराहे पर फोर्स की तैनाती की गई है। उधर औरैया जिले में एससी एसटी एक्ट के विरोध में सवर्ण समाज के संगठनों ने बाजार बंद करा दिया। जिले में भारत बंद असर दिख रहा है। भारत बंद को लेकर पुलिस अलर्ट पर है।  प्रमुख बाजारों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। रेलवे स्टेशनों पर भी अतिरिक्त पुलिस फोर्स लगाई गई है। एटा में भी एससीध्एसटी एक्ट कानून को लेकर भारत बंद का असर देखने को मिल तरह है। एटा में भी सवर्ण समाज के साथ पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों ने भी बंद का समर्थन किया है। 

जनता की आवाज