Ad

ads ads

Breaking News

ग्रामीणों ने प्रधान पर घोटाले का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी से की जांच की मांग



शाहजहाँपुर। विकास खण्ड सिंधौली के ग्राम आमडार में ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत कलुआपुर प्रधान द्वारा कराये गए गांव में इंटरलॉक सड़क व नाला निर्माण कार्यो में भारी घोटाले का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी को पत्र लिख जांच कराने की मांग की। 
ग्रामीणों का आरोप है कि, गांव में खड़ंजे की ईंट से इंटरलॉक निर्माण कार्य कराया गया था, और उसी खड़ंजे की टूटी ईंट को रोड़ा बना दिया गया था। जिसके बाद 300 मीटर खरंजे की बची समूची ईंटे अपने ही भाई बी.डी.सी.के हाथ 10,000 रूपए में बेच दी। ग्रामीणों ने बताया कि बी.डी.सी. ने खुद इस बात को 50 लोगो के सामने स्वीकार की है। 

ग्रामीणों का कहना है कि कुछ समय पहले गांव में नाला निर्माण कार्य कराया जा रहा था। जिसमें पिली ईटों का प्रयोग किया गया साथ ही घटिया सीमेंट भी लगाई गई। ग्रामीणों का आरोप है कि जब सभी ग्रामीणों ने इसका विरोध किया तो ग्राम प्रधान ने धमकी देते हुए कहा कि तुम लोग मेरा क्या कर लोगे, हमसे भी हमारे अधिकारी हिस्सा लेते है। प्रधान ने कहा जो करना हो कर लो, मेरा कुछ नहीं होगा। 

वही ग्रामीणों ने बताया कि, जब शौचालय की बात आई तो ग्रामप्रधान ने सबसे दो-दो हजार रूपए की मांग की।जिसके बाद शौचालय बनवाने की बात कही, और जिन लोगो के शौचालय बने हुए है, उन लोगो से भी वसूली की गयी। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर ग्रामपंचायत कलुआपुर में अवैध वसूली करने वालों के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही करने और ग्राम प्रधान द्वारा कराये गए कार्यों की जाँच कराने की मांग की। इस दौरान रामरतन, इश्वरदयाल, रामचंद्र, बाके लाल, भूजाराम, लालाराम, लालबहादुर, देवेन्द्र, सुरेन्द्र समेत कई अन्य ग्रामीण उपस्थित रहे

... रिपोर्ट - संजीव मिश्रा। (शाहजहांपुर)

No comments