Ad

ads ads

Breaking News

पंचायत मंत्री ने किया शिक्षको का सम्मान,बंद के समर्थन पर बोले नो कमेंट



सागर। शिक्षक दिवस के अवसर पर पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव ने अपने विधानसभा क्षेत्र के शिक्षको का सम्मान समारोह पूर्वक ब्लॉक मुख्यालय पर कृषक स्टेडियम में किया।
शिक्षको का उत्साह वर्धन करते हुए पंचायत मंत्री ने कहा कि सुसंस्कृत समाज निर्माण में शिक्षको ने हमेशा अहम भूमिका का निर्वहन किया है, वर्तमान समय में समाज विकृति को ओर बढ़ रहा है।समाज में बढ़ रही गुंडागर्दी,शराबखोरी, अत्याचार,अनाचार,पापाचार को न तो पुलिस रोक सकती है, और न  ही प्रसाशन सक्षम है, और सरकार के भी बस की बात नहीं है। इसे सिर्फ शिक्षक ही रोक सकते है, पंचायत मंत्री ने उत्साह में आकर अपनी ही सरकार को,पुलिस एवं प्रसाशन को कटघरे में खड़ा कर दिया। पंचायत मंत्री यही नहीं रुके उन्होंने इंग्लिश मीडियम स्कूलो पर कटाक्ष करते हुए कहा की दस हजार फ़ीस लेने वाले इन स्कूलो से निकले छात्र-छात्राओ को मैने चपरासी तक  बनते नही देखा। वही पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव ने निजी स्कूलो को भवन निर्माण के लिए 8 से 10 लाख रुपए देने की घोषणा कर दी। वाद में जब इस मामले में पूछा गया तो उन्होंने कहा की मेरे पास विधायक निधि सहित अन्य प्रकार के फंड होते है जिसे निजी स्कूलो को स्कूल भवन निर्माण के लिए दिया जा सकता है। इसमें गलत कुछ नहीं है इन स्कूलो में क्षेत्र के बच्चे ही पढ़ते है। निजी स्कूलो पर मंत्री जी की मेहरबानी को चुनाव से जोड़ कर देखा जा रहा है।
पंचायत मंत्री से जब 6 सितम्बर के बंद को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा की बंद के लिए मै क्या कर सकता हूँ,जिसकी जैसी इच्छा होगी करेगा। एक तरफ प्रदेश के मुखिया लोगो से शांति की अपील कर रहे है वही सरकार के कद्दावर एवं जिम्मेदार मंत्री का गैरजिम्मेदार बयान चिंताजनक है। बंद के समर्थन पर मंत्री जी ने नो कमेंट कहते हुए आगे बढ़ गए।

... रिपोर्ट - हेमंत आठिया। (सागर मध्यप्रदेश)