Ad

ads ads

Breaking News

भट्ठा संचालकों ने सरकार के खिलाफ गम्भीर आरोप लगाते हुए खोला मोर्चा


बाराबंकी। नगर के जिला पंचायत हाल में जुटे ये हैं कई जनपदों से आये ईंट भट्ठा संचालक । इनका आरोप है कि सरकार इनके उद्योग को बंद करने की साजिश कर रही है । भट्ठा मालिकों का कहना है कि सरकार के एक साल पूरा होने पर मुख्यमंत्री ने कहा था के वे रायल्टी खत्म कर देंगे लेकिन आज तक कुछ नही हुआ । भट्ठा मालिकों ने आरोप लगया कि उनके उद्योग को बंद करने की साजिश के तहत प्रधानमंत्री आवास जैसी तमाम सरकारी निर्माण में ईंटों का प्रयोग न करने का निर्देश जारी किया गया है । सरकार सरकारी निर्माण में ईंटों की जगह फ्लाई ऐश का प्रयोग करवा रही है । 
गौरतलब हो कि सूबे में करीब 18 हजार ईंट भट्ठे हैं । भट्ठा मालिकों के मुताबिक इनसे लाखों गरीबों को रोजी रोटी मिलती है लेकिन सरकार इनकी परवाह किये बगैर इस उद्योग को बंद करने पर आमादा है । इनकी मानें तो फ्लाई ऐश की ईंटे स्वास्थ्य के लिये हानिकारक तो हैं ही मजबूत भी नही होती । कई रिसर्च में साबित हुआ है कि फ्लाई ऐश से बने आवास में रहने वालों को चर्म रोग , दमा और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां होने का खतरा है बावजूद इसके सरकार फ्लाई ऐश ईंटों का प्रयोग करने को बढावा दे रही है । आने वाली 24 सितम्बर को पूरे सूबे के सभी भट्ठा मालिक लखनऊ में प्रदर्शन कर सरकार से इन नियमों में शिथिलता दिये जाने की मांग करेंगे । 

No comments