Ad

ads ads

Breaking News

बैंक से लौट रही महिला के साथ हुई टप्पेबाजी

उन्नाव। शहर में लगातार टप्पेबाजी की घटनाए बढ़ती जा रही है। इसी क्रम मे ई-रिक्शा के लिए बैंक से लोन का रुपये लेकर ई-रिक्शा से घर लौट रही महिला को टप्पेबाजों ने शिकार बना डाला। खुद को लुटे जाने का अहसास होते ही बदहवाश महिला ने मामले की जानकारी दी। जिसके बाद  परिवार के लोगों पूरे शहर में टप्पेबाजों की खोजबीन शुरू की। इसी दौरान उन्हे छोटा चैराहा और आइबीपी पेट्रोल पंप के पास से घटना में शामिल 5 महिलाए दिखाई दी। जिन्हे उन्होने दौड़ा लिया। जिसके बाद उन्हे पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। जानकारी के अनुसार पकड़ी गईं महिलाएं नासिक की टप्पेबाज गिरोह की सदस्य बताई जा रही हैं। उनके पास से सोने-चांदी के जेवरात भी बरामद हुए हैं।
शहर के मोहल्ला नुरुदीनगर निवासी नाजरीन पत्नी मो. शफीक ने आवास विकास स्थित बैंक से ई-रिक्शा खरीदने के लिए लोन कराया था। बीते गुरुवार को उसी का रुपया बैंक से लेकर ई-रिक्शा से घर को निकली। हरदोई ओवरब्रिज के पास दो अन्य महिलाएं ई-रिक्शा पर बैठ गईं। छिपियाना चैराहा पर नाजरीन उतरकर घर चली गई। जैसे ही उसने बैग में हाथ डाला रुपये गायब देख दंग रह गई। मामला परिजनों की जानकारी में आते ही पुलिस को जानकारी देकर सभी कानपुर टेंपो अड्डा की ओर भागे। करीब 10-15 लोग टप्पेबाज महिलाओं की तलाश में निकल पड़े। देर शाम छोटा चैराहा से दो और आइबीपी चैराहा से 3 महिलाओं को संदिग्ध देख पकड़कर पुलिस को दिया गया। तलाशी के दौरान पुलिस ने उनके पास से दो सोने के कान के टॉप्स, एक दर्जन नई बिछिया और करीब 6 हजार रुपये मिले। पुलिस सूत्रों की मानें तो पकड़ी गईं महिलाएं नासिक के बड़े गिरोह से संबंध रखती है। कोतवाल अरुण द्विवेदी ने बताया कि अभी तक किसी भी महिला ने टप्पेबाजी की बात स्वीकार नहीं की है। सभी से महिला थाना में पूछताछ की जा रही है।

No comments