Ad

ads ads

Breaking News

दुष्कर्म पीड़िता की शिकायत पर एसडीएम ने अधिकारियों को किया तलब

उन्नाव।  एक माह  पूर्व शौच क्रिया हेतु खेतों पर गयी महिला के साथ जबरन दुष्कर्म करने वाले आरोपी युवक को बचाने की कोशिश करने पर पीड़िता ने तहसील दिवस पर इसकी शिकातय कर दी। जिस पर उपजिलाधिकारी ने उस पर शिकायत को गंभीरता लेते हुए संबधित अधिकारियों को तलब कर दिया।
जानकारी के अनुसार पीड़िता की रिपोर्ट न दर्ज करनें का आरोप लगाते हुए पीड़िता ने मौरावां पुलिस के विरूद्ध तहसील समाधान दिवस में उपजिलाधिकारी को शिकायती पत्र देते हुए अपनी पीड़ा बताई।  तथा आरोपी युवक के विरूद्ध जबरन दुष्कर्म करनें की रिपोर्ट दर्ज करनें की फरियाद की जहां एस0डी0एम0 व क्षेत्राधिकारी ने कार्यवाही का भरोसा दिलाया है।
प्राप्त विवरण के अनुसार मामला थाना मौरावां से सम्बन्धित गांव सरांय मुबारक का है जहां पीड़िता अनीता पत्नी धरमू के शिकायती पत्र के अनुसार 14 जून 2018 को पीड़िता सुबह समय लगभग 9 बजे अपने घर से खेतों की तरफ शौच क्रिया हेतु गयी थी जहां पर एक नाला भी है पीड़िता के अनुसार उसी समय गांव का ही दीपक पुत्र बढ़क्के लोहार ने पीछे से आकर बुरी नियत से विवाहिता को पकड़ कर नाले में जबरन गिरा दिया पीड़िता के अनुसार उक्त आरोपी युवक ने अपने हाथ से उसका मुंह दबा दिया जिससे वह शोर न मचा सके और उसके साथ जबरन अपना मुंह काला किया। पीड़िता के शिकायती पत्र के अनुसार जब उसने चिल्लानें का प्रयास किया तो उसे मारापीटा और कहा कि यदि तुमनें किसी से इसके बारे में बताया तो तुम्हें व तुम्हारे पति धरमू को जान से मार डालेगा।
पीड़िता जब उक्त दरिन्दे के चंगुल से छूटी तो पति को घटना के बारे में बताया जिस पर पति ने उक्त दीपक लोहार के घर शिकायत करनें पहुंचा तो आरोपी युवक ने दबंगई दिखाते हुए उसे मां बहन की गन्दी गन्दी गालियां दी गालियों का विरोध करनें पर पति की पिटाई भी कर दी। थाने जानें पर थाना मौरावां पुलिस ने दुष्कर्म की रिपोर्ट न लिखकर मात्र एन.सी.आर ही दर्ज कर चलता कर दिया।
विवाहिता ने दिये गये शिकायती पत्र में बताया कि थाना मौरावां पुलिस अभियुक्त से मिल गयी है और मुझ पर सुलह करनें का दबाव बना रही है जहां एस0डी0एम0 अनिल कुमार सिंह व उपपुलिस अधीक्षक महेन्द्र शर्मा ने कार्यवाही का भरोसा दिलाया है इस सम्बन्ध में जब थाना मौरावां के इन्स्पेक्टर मो0 अशरफ से बात कर हमारें अखण्ड भारत न्यूज के तहसील संवाददाता ने जरिये दूरभाष पर बात की तो उन्होंने बताया कि घटना के समय पीड़िता के पति के द्वारा जो तहरीर दी गयी थी उसके मुताबिक एन.सी0आर0 संख्या 143/2018 लिखा दी गयी थी अब उन्होंने जो तहरीर दी है उस पर जांच हो रही है जांच में जो सत्य होगा उसी के अनुसार कार्यवाही की जायेगी

No comments