Ad

ads ads

Breaking News

राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्ष ने साधा सत्तारूढ़ पर निशाना

डेस्क। संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाएगी। बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था। इस चर्चा में कांग्रेस की तरफ से राहुल गांधी ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा। 
हालांकि भाषण देते हुए राहुल गांधी की जुबान फसिल गई और पीएम नरेंद्र मोदी भी अपनी हंसी पर काबू नहीं रख पाए। राहुल गांधी अपने भाषण में जीएसटी को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साध रहे थे. इसके बाद जैसे ही उन्होंने पीएम मोदी की विदेश यात्राओं पर बोलना शुरू किया, उनकी जुबान फसिल गई। राहुल गांधी ने कहा कि जब पीएम बार जाते हैं। यहां बार से उनका आशय बाहर से था। उन्होंने अंग्रेजी में मतलब समझाते हुए कहा कि मतलब एब्रॉड यानी जब पीएम ओबामा, ट्रंप आदि से मिलने जाते हैं। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। 
पीएम मोदी और बीजेपी द्वारा हंसी उड़ने के बाद राहुल गांधी के चेहरे पर घबराहट साफ देखी जा सकती थी.हालांकि इसके बाद भी उन्होंने भाषण जारी रखा और राफेल-रोजगार जैसे मुद्दों पर बीजेपी को घेरा। इस दौरान उनके सशक्त संवादों से पक्ष में बैठे नेताओ ने जवाब न दे, खामोशी अख्तियार कर ली है। 
आपको बता दें कि कांग्रेस को इस चर्चा में  38 मिनट बोलने को दिए गए थे। वहीं संसद शुरू होने से पहले ही सोशल मीडिया पर भी बीजेपी की तरफ से राहुल गांधी पर निशाना साधा गया था। अविश्वास प्रस्ताव से ठीक पहले बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए एक ट्वीट कर दिया था। गिरिराज ने ट्वीट में लिखा था कि-  भूकंप के मजे लेने के लिए तैयार हो जाइए। गिरिराज का यह ट्वीट करना था कि सोशल मीडिया पर  भूकंप आने वाला है हैशटैग के साथ ट्वीट की बाढ़ आ गई। गिरिराज के इस ट्वीट को राहुल गांधी के उस बयान से जोड़कर देखा जा रहा है जिसमें राहुल ने कहा था कि अगर उन्हें संसद में 15 मिनट बोलने दिया जाए तो भूकंप आ जाएगा।  
बताते चले कि बुधवार को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने तेलुगू देशम पार्टी के सांसदों की तरफ से दिए गए अविश्वास प्रस्ताव की स्वीकार कर लिया था। टीडीपी के अलावा वाईएसआर कांग्रेस भी इस प्रस्ताव का समर्थन कर रही है। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस, एआईएडीएमके, एआईएमआईएम और आम आदमी पार्टी ने भी अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने की घोषणा की है। मोदी सरकार के खिलाफ पहला अविश्वास प्रस्ताव है।

No comments