Ad

ads ads

Breaking News

डा.हाथी के अंतिम संस्कार के दौरान लोगों के व्यवहार से नाराज हुई मुनमुन दत्ता




डेस्क। टीवी सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा में डा. हाथी का किरदार निभाने वाले एक्टर कवि कुमार आजाद की 9 जुलाई को दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। मुंबई के मीरा रोड स्थित क्रीमेटोरियम में 10 जुलाई को उनका अंतिम संस्कार किया गया। तारक मेहता की पूरी कास्ट इस एक्टर के चले जाने से सदमे में थी। इस दौरान शो के सभी कलाकार अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे थे। जिसमें मुनमुन दत्ता, भव्य गांधी, दया शंकर पांडे, तन्मय वेकारिया, अमित भट्ट और श्याम पाठक शामिल थे। अंतिम संस्कार के समय लोगों के व्यवहार के कारण शो में बबीता का किरदार निभाने वाली मुनमुन दत्ता काफी नाराज है। मुनमुन ने सोशल मीडिया के माध्यम से बताया कि कवि कुमार के अंतिम संस्कार के पहले कुछ लोग हंस रहे थे। सेल्फीज और वीडियो बना रहे थे।
उन्होंने पोस्ट में लिखा, अंतिम संस्कार के पहले हाथी भाई के घर में उनके अंतिम दर्शन के दौरान जिस तरीके से लोग पेश आए, उससे मैं वाकई चिंतित हूं। सेल्फीज क्लिक करना, हमारे चेहरे पर फोन घुमाना, वीडियो बनाना। आंटी, अंकल हो या युवा लोग सभी यही कर रहे थे। इससे साफ जाहिर होता है कि आप गंभीर और निराशाजनक क्षणों के दौरान लोगों का कितना कम सम्मान करते हैं। ये केवल सेल्फीज के लिए, ताकि आप सोशल मीडिया पर शेखी बघार सको, व्हाट्सएप पर सर्कुलेट कर सको। ऐसी परिस्थिति में आम जनता सम्मान नहीं जताती लेकिन सेलेब्स को स्पॉट करने, तस्वीरें खींचने और मस्ती का समय तलाशती है। भीड़ में मेरे चेहरे पर फोन घुमाने वाले दो लोगों को मैंने डांटा। मैंने पड़ोसी की बिल्डिंग में लोगों को हंसते हुए और तस्वीरें लेते हुए देखा। उनके चेहरे पर जरा भी सम्मान नहीं झलक रहा था और सभी के लिए तमाशा बने उससे पहले मैं वहां से चली गई।
बता दें कवि कुमार का स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा था और उन्हें मुंबई के मीरा रोड स्थित वॉकहार्ड अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहां रविवार रात वो कोमा में चले गए और सोमवार को अचानक दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। 

साभार - नई दुनिया

 

No comments