Ad

ads ads

Breaking News

मायके आई महिला के साथ रेप,मां की पिटाई कर दी जान से मारने की धमकी



अपने मायके आई एक विवाहित महिला के साथ गांव के ही लोगों ने गैंगरेप किया जिसके बाद उसकी और मां की जमकर पिटाई की

डेस्क। फिरोजाबाद के सिरसागंज में अपने मायके आई एक विवाहित महिला के साथ गांव के ही लोगों ने गैंगरेप किया जिसके बाद उसकी और मां की जमकर पिटाई की। किसी तरह पीड़िता जान बचाकर उनके चंगुल से निकली। पीड़िता अब राज्यपाल को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री के आवास पर बच्चों के साथ आमरण अनशन की अनुमति मांगी है। जिस पर मामले की जांच आगरा कमिश्नर ने शुरू करा दी है। वहीं पीड़िता ने आईजी आगरा के समक्ष प्रस्तुत होकर कार्रवाई की गुहार लगाई है। 
 मिली जानकारी के मुताबिक मूल रूप से पति के साथ पश्चिमी बंगाल में रहने वाली विवाहिता का मायका सिरसागंज के कपरावली में है। जो 25 जून को दोपहर में वह अपनी मां के साथ गांव आई थी। यहां वह लोग अपने खेतों को बटाई पर देना चाहती थी। जब वह और मां घर पर थी तभी शाम को गांव के नामजद आरोपी आए और उसके साथ मारपीट करने लगे। उसके बालों को खींचा। बीच बचाव में आई मां को भी  पीटा और दोनों को बंधक बना लिया। जिसके बाद उन लोगो ने महिला के कपड़े फाड़े और फिर बारी-बारी से रेप किया। पीड़िता ने राज्यपाल को संबोधित प्रार्थना पत्र में कहा है कि आरोपियों ने बारी बारी से उसके साथ रेप किया। कपड़े फाड़ दिए और विरोध करने पर पीटते रहे।
 जान से मारने की दी धमकी -आरोपियों ने पीड़िता और उसकी मां को धमकी दी कि अगर पुलिस में मामले लेकर गए तो पीड़िता के पति और बच्चों को मार डालेंगे। तुम दोनों को जिंदा जला देंगे।
वही पीड़िता का आरोप है कि उसने 100 नम्बर डायल किया तो वह नहीं उठा। उसके बाद अपने आप ही दो पुलिस वाले आए। उनको जब पीड़िता ने बात बताई तो अपने साथ गाड़ी में लेकर जाने की बात कही। जिसके बाद चालक ने फोन करके बुलाया और घिरोर तक लेकर गए। आरोपी भी घिरोर तक आए। वे घबराकर बस द्वारा आगरा एक रिश्तेदार के यहां आकर ठहरीं।
 सौतेली मां के रिश्तेदार मारने की फिराक में - पीड़िता ने कहा कि उसकी सौतेली मां के कोई संतान नहीं है। उसकी सौतेली मां ने मुकदमा सिरसागंज में किया है। वसीयत को तहसील में उसने दाखिल किया है जिसके तहत उसको संपत्ति मिलेगी और ऐसा करने से सौतेली मां के रिश्तेदार उसकी हत्या करना चाहते हैं। 
साहब मोबाइलों की लोकेशन से करा लो पता  -पीड़िता का कहना है कि मेरी मां उसके मोबाइल की लोकेशन और आरोपियों की लोकेशन एक ही रही है। घटना वाले दिन उन लोगों ने हमारा घिरोर और फिर टूंडला टोल तक पीछा किया है। इसकी जांच करा ली जाए। पीड़िता ने कहा उसने अपनी हत्या की आशंका को लेकर आयुक्त आगरा को पत्र दिया था। मंडलायुक्त सुरक्षा मुहैया कराते उससे पहले ही गैंगरेप की घटना हो गई।
 पीड़िता बोली सिरसागंज गई तो हत्या कर देंगे. आईजी आगरा के सामने अपना प्रार्थना पत्र लेकर गई पीड़िता से उन्होंने कहा कि तुम सिरसागंज थाने जाओ तुम्हारा मुकदमा दर्ज होगा।  पूरी मदद होगी। पीड़िता ने कहा कि अगर वह सिरसागंज गई तो उसकी हत्या करा दी जाएगी।