Ad

ads ads

Breaking News

राष्ट्रीय लोक अदालत में 2927 वादों का हुआ निस्तारण



           
लखीमपुर खीरी। सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने बताया ओम प्रकाश अग्रवाल की अध्यक्षता में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखीमपुर खीरी द्वारा दीवानी न्यायालय परिसर लखीमपुर खीरी और जनपद की तहसील विधिक सेवा समितियांे द्वारा अपने अपने तहसील परिसर में 14 जुलाई 2018 दिन शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जनपद के विभिन्न न्यायिक अधिकारियों द्वारा विभिन्न प्रकार प्रीलिटीकेशन एवं विभिन्न प्रकार के लम्बित कुल 2927 वाद आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारित किये गये तथा निस्तारित 09 मोटर दुर्घटना प्रतिकर वादों में रूपया 1745000 बतौर प्रतिकर के रूप में पीड़ित व्यक्तियों को दिलाये गये एवं निस्तारित 1351 फौजदारी वादों में रूपया 446445 अर्थदण्ड वसूल हुआ। इस मौके पर जनपद न्यायाधीश के न्यायालय में निस्तारित 22 वादों में से दीवानी के 19 वाद  निस्तारित हुए और मोटर दुर्घटना के 03 वादों में रूपया 535000 बतौर प्रतिकर पीड़ित व्यक्तियों को दिलाये गये। 

           विनोद कुमार अपर जिला जज प्रथम के न्यायालय में निस्तारित 03 वादों में से दीवानी के 02 वादों का निस्तारण हुआ एवं मोटर दुर्घटना प्रतिकर के निस्तारित 01 वाद में रूपया 20000 बतौर प्रतिकर पीड़ित व्यक्तियों को दिलाया गया। लालता प्रसाद अपर जिला जज द्वितीय के न्यायालय में निस्तारित 31 वादों में से दीवानी के 03 वाद, फौजदारी के 26 वाद और मोटर दुर्घटना प्रतिकर के 02 वादों में रूपया 210000 बतौर प्रतिकर पीड़ित व्यक्तियों को दिलाये गये। कुलदीप सक्सेना अपर जिला जज तृतीय के न्यायालय में मोटर दुर्घटना प्रतिकर के निस्तारित 01 वाद में रू0 430000 बतौर प्रतिकर पीड़ित व्यक्तियों को दिलाये गए। श्याम लाल कोरी विशेष न्यायाधीश के न्यायालय में निस्तारित 35 वादों में से विद्युत के 25 वाद एवं 10 अन्य वाद निस्तारित हुए। श्याम कुमार अपर जिला जज चतुर्थ के न्यायालय में दीवानीद के 06 वाद निस्तारित हुए। श्रीमती नीलू मोद्या प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय में वैवाहिक/भरण पोषण सम्बन्धित पति पत्नी के 31 वाद निस्तारित हुए। 

निर्मल सिंह सेमवाल अपर जिला जज पंचम के न्यायालय में दीवानी के 08 वाद निस्तारित हुए। प्रवीण कुमार सिंह अपर जिला जज षष्टम के न्यायालय मे निस्तारित 11 वादों में से मोटर दुर्घटना प्रतिकर के निस्तारित 02 वादों में रू0 550000 बतौर पीड़ित व्यक्तियों को दिलाये गये व दीवानी के 09 वाद निस्तारित हुए। श्रीमती स्नेहा नेगी अपर जिला जज/ न्यू एफटीसी के न्यायालय में वैवाहिक/भरण पोषण सम्बन्धी पति पत्नी के 09 वाद निस्तारित हुए। सुनील प्रसाद मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के न्यायालय में निस्तारित 711 फौजदारी वादों में रू0 176000 अर्थदण्ड वसूल किया। राम अवतार प्रसाद सिविल जज (व0प्र0) के न्यायालय में दीवानी के 05 एवं उत्तराधिकार के 04 वाद निस्तारित हुए। हरी प्रसाद अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम के न्यायालय में निस्तारित फौजदारी के 122 वादों में रूपया 98000 अर्थदण्ड वसूल हुआ। प्रदीप कुमार अपर सिविल जज व0प्र0/एसीजेएम के न्यायालय में निस्तारित 64 फौजदारी वादों में रू0 35550 अर्थदण्ड वसूल हुआ। श्रीमती सीमा सिंह अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वितीय के यहां 97 फौजदारी वादों में रूपया 47900 अर्थदण्ड वसूल हुआ। संदीप चैधरी अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तृतीय के यहां फौजदारी के निस्तारित 67 वादों में रूपया 6150 अर्थदण्ड वसूल हुआ एवं एन0आई0एक्ट के 02 वाद निस्तारित हुए।

            अतुल चौधरी सिविल जज (व0प्र0)/एफ0टी0सी0 के न्यायालय में फौजदारी के 41 वादों मे रूपया 19500 अर्थदण्ड वसूल हुआ एवं 06 दीवानी वाद निस्तारित हुए। आशीष कुमार राय सिविल जज (क0प्र0) के न्यायालय मे दीवानी के 02 एवं उत्तराधिकार के 03 वाद निस्तारित हुए। सुश्री सुधा यादव न्यायिक मजिस्ट्रेट के यहां निस्तारित 112 फौजदारी वादों में रू0 8900 अर्थदण्ड वसूल हुआ। जीवक कुमार सिंह अपर जिला जज (क0प्र0) प्रथम के न्यायालय मे 51 फौजदारी वादों मेें रू0 7520 अर्थदण्ड व दीवानी का 01 वाद निस्तारित हुआ तथा श्रीमती उरूज फातिमा सिविल जज (क0प्र0)/एफ0टी0सी0 के न्यायालय मे निस्तारित 30 फौजदारी वादों मे रू0 41100 अर्थदण्ड  वसूल हुआ।


... रिपोर्ट- श्रवण सिंह निघासन,लखीमपुर खीरी

No comments