Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

प्रेमी युगल को पंचायत ने सजा-ए-मौत का सुनाया फरमान

प्रेमिका को उसके ही परिजनों ने घर में कभी नशीली गोली देने तो कभी इंजेक्शन लगाकर मौत की नींद सुलाने की कोशिश की

डेस्क। मेरठ के मवाना में एक प्रेमी युगल को पंचायत ने सजा-ए-मौत का फरमान सुना दिया गया। जिसके बाद प्रेमिका को उसके ही परिजनों ने घर में कभी नशीली गोली देने तो कभी इंजेक्शन लगाकर मौत की नींद सुलाने की कोशिश की लेकिन कोशिश नाकाम हो गई। घर में एक सप्ताह से कैद प्रेमिका किसी तरह छूटकर थाने पहुंच गई और आपबीती पुलिस को बताई। पुलिस आज युवती के अदालत में बयान दर्ज कराएगी। 
कस्बे के एक मोहल्ले में पिछले सात वर्षों से एक युवक का बिरादरी की पड़ोसी युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों का रिश्ता इतना करीब पहुंच गया था कि दोनों ने एक-दूसरे के साथ जीने मरने की कसमें तक खाईं। जब दोनों के प्रेम प्रसंग की जानकारी परिजनों को हुई तो वे इसके खिलाफ हो गए। जिसके बाद परिजनों ने एक-दूसरे के मिलने पर रोक लगा दी।मंगलवार को थाने पहुंची युवती ने बताया कि दो दिन पहले उनके प्रेम-प्रसंग को लेकर मोहल्ले में बिरादरी की पंचायत हुई। इस दौरान पंचायत में कहा गया कि यदि प्रेमी युगल अपनी जिद पर अड़ा है तो उसे मौत दे दी जाए। युवती ने बताया कि इसके बाद परिवारवालों ने उसे कमरे में बंद कर दिया। उसके ऊपर पहरा लगा दिया गया। युवती के मुताबिक उसके परिवारवाले लगातार नशीली गोलियां और इंजेक्शन देने का प्रयास कर रहे हैं। वह उसे मारना चाहते हैं।
मंगलवार को किसी तरह से परिजनों की कैद से छूटी प्रेमिका ने प्रेमी संग थाने में पनाह ली। पुलिस सुरक्षा में पहुंचने के बाद प्रेमिका ने पुलिस को आपबीती सुनाई। पुलिस ने दोनों को सुरक्षा का आश्वासन देते हुए थाने में बैठा लिया। प्रेमी युगल ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है। मवाना थाने के इंस्पेक्टर (क्राइम) देवेश शर्मा का कहना है कि युवक-युवती दोंनो बालिग हैं। उन्हें शादी करने पर परिजनों से जान का खतरा है। युवती को महिला थाने भेज दिया गया था।आज उसके अदालत में बयान दर्ज कराए जाएंगे। उधरए इंस्पेक्टर ने कोई पंचायत होने और इस तरह का फरमान जारी होने की जानकारी से इनकार किया।

No comments