Ad

ads ads

Breaking News

नहर विभाग की लापरवाही के चलते धान नर्सरी की बुआई में संकट

उन्नाव। बीघापुर तहसील क्षेत्र के गांव डौंड़ियाखेड़ा में नहर विभाग की उदासीनता के चलते डलमऊ बी पम्प नहर में 7 पंप लगे हैं जिसमें 5 पम्प रोजाना चलने का प्रावधान है। लेकिन लगभग 3 महीने हो गए है।
 जानकारी के अनुसार नहर विभाग की उदासीनता के चलते ग्रामीणों केा बेहद परेशानियो से गुजरना पड़ रहा हैं। बताते चले कि क्षेत्र में खेती में सिंचाई की समस्या को दूर करने के लिए 7पंपो लगाए जाने की योजना बनी थी। जिनमें सभी सातों पम्प अभी तक शुरू नही हो सके।जिससे क्षेत्रीय किसानो को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अजेई राम नेवल ने बताया कि गंगा का जलस्तर घट जाने से पम्पो में पानी नही जा रहा है और पम्प में जो शिकायत है उस पर उन्होने कार्य शुरू कर दिया है।
गौरतलब हो कि डलमऊ पंप नहर में लंबे अरसे से जलापूर्ति ना हो पाने के चलते धान की नर्सरी बुवाई में भी संकट के बादल छाने लगे हैं। नहर में जहां एक और धूल उड़ रही है वहीं नहर में पानी आने की संभावनाएं भी लगभग क्षीण दिखाई दे रही है। क्षेत्रीय किसानों में  संगठा सिंह, अमरनाथ राजपूत ,कुंठा पासवान ,शीतला लोधी, अस्वनी यादव, मनोज शुक्ला ,राजू कुशवाहा ,गुरु प्रसाद त्रिवेदी ने क्षेत्रीय विधायक व उत्तर प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष से डलमऊ बी पम्प नहर को शुरू करवाने की मांग की है।

No comments