Ad

ads ads

Breaking News

अगवा हुई युवती मिली कोर्ट में,जांच जारी

विशेष रिपोर्ट : आलोक 
उन्नाव। अगवा की गई युवती के परिजनों ने पुलिस अधिकारियों के पास थाने के चक्कर लगाने के बावजूद किसी प्रकार की अधिकारियों ने कार्यवाही करना उचित नहीं समझा। उन्होने पीड़ित परिजनो की एक नहीं
सुनी। उन्हें थाने से वापस लौटा दिया। जिसके बाद पुलिस अधिकारियों के रूखे रवैये से परेशान परिजन पुलिस अधीक्षक कार्यालय में फरियाद लेकर पहुंचे। इसी दौरान  पुलिस अधीक्षक कार्यालय के निकट उन्हें अगवा करने में शामिल कार दिखाई पड़ी। युवती के परिजनों ने घटना की जानकारी पुलिस को देते हुए बताया कि अगवा में शामिल कार पुलिस अधीक्षक कार्यालय से थोड़ी दूरी पर खड़ी है। सूचना पाकर सक्रिय हुए पुलिस कार के पास पहुंची और उसमे बैठे लोगों को हिरासत में ले लिया। लेकिन कार में युवती नहीं मिली। पूछताछ के दौरान पता चला कि युवती वकीलों के बस्ते पर बैठी है। परंतु पुलिस वकील के बस्ते तक जाने की हिम्मत नहीं जुटा सकी। पता चला कोर्ट मैरिज के लिए युवती को अगवा किया गया था। युवती के परिजन ने आधा दर्जन लोगों के खिलाफ तहरीर देकर कानूनी कार्रवाई की मांग की है। पुलिस का कहना है तहरीर मिली है जांच हो रही है। 
हसनगंज थाना क्षेत्र में दो दिन पूर्व अगवा हुई थी युवती 
पूरा मामला हसनगंज थाना क्षेत्र के गांव हसनापुर का है। जहाॅ अगवा युवती के बाबा निवासी हसनापुर थाना हसनगंज ने बताया कि राघवेंद्र निवासी हसनगंज थाना कस्बा अपने आधा दर्जन साथियों के साथ उसके घर पर आया और कार में बैठाकर उसकी पोती को अगवा कर ले गया। पोती को जबरन कार में बैठाकर ले जाते देख घर में हड़कंप मच गया। उन्होंने तत्काल हसनगंज थाना पहुंचकर मामले की जानकारी दी। परंतु थाना पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की और पीड़ित बाबा को थाने से वापस कर दिया। पुलिस के रूखे रवैये के चलते सोमवार को अगवा युवती का पीड़ित बाबा अपनी शिकायत लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा।
अगवा की घटना में शामिल कार से पुलिस ने दो को लिया हिरासत में
जहां उसने जिला पंचायत मार्केट के पास अगवा किए गए घटना में शामिल कार को खड़ा देखा। जिसकी जानकारी उसने तत्काल पुलिस को दी। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस सक्रिय हुई और कार में बैठे 2 लोगों को हिरासत में ले लिया। जिनसे पूछताछ करने में पता चला है कि पीड़ित बाबा की पोती को कोर्ट मैरिज करने के लिए लाया गया है और वह वकीलों के बस्ता पर बैठी है। तुरंत पुलिस है वकीलों के वास्ते पर जाने की हिम्मत नहीं जुटा सकी। बाबा ने घटना के संबंध में हसनगंज थाना में आधा दर्जन लोगों के खिलाफ तहरीर देकर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की।
युवती पर आरोपी की थी पहले से नजर 
बताया जाता है अगवा में शामिल राघवेंद्र सिंह पुत्र सुरेंद्र सिंह के बड़े भाई की ससुराल हसनगंज थाना क्षेत्र के हसनापुर में है। भाई की ससुराल में राघवेंद्र सिंह का आना जाना है। इसी दौरान युवती से राघवेंद्र की नजदीकियां बढ़ी और प्रेम संबंध बन गए। युवती के बाबा इस संबंध के खिलाफ थे हैं। उन्हें यह रिश्ता मंजूर नहीं था। जिसके बाद राघवेंद्र ने अपने साथियों के साथ मिलकर यह कदम उठाया। इस संबंध में बातचीत करने पर थाना अध्यक्ष हसनगंज ने बताया कि बाबा की तहरीर पर राघवेंद्र और उसके पिता सुरेंद्र व दो अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि देर रात युवती स्वयं कोर्ट मैरिज करने के बाद खाना पहुंची और कोर्ट मैरिज का सर्टिफिकेट दिखाया। उन्होंने बताया कि युवती को मेडिकल के लिए भेजा जा रहा है। इसके बाद 164 के बयान कराए जाएंगे। थानाध्यक्ष ने बताया कि युवती बालिग है।

No comments