Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

ट्रांसमिशन ग्रिड में आग लगने से करीब दस करोड़ का नुकसान, हवा भी हुई जहरीली


 
            ट्रांसफार्मर में आग लगने से भारी नुकसान के साथ आधे कानपुर में अंधेरा छाया रहा
 
कानपुर। पूरब के मैनचेस्टर के रूप में विख्यात कानपुर पनकी पावर प्लांट में कल देर रात 240 एमवीए के पावर ट्रांसफार्मर में आग लगने से भारी नुकसान के साथ आधे कानपुर में अंधेरा छाया रहा। इसके बाद आज सुबह यहां पर वैकल्पिक संसाधनों के जरिये शहर की बिजली व्यवस्था शुरू कर दी गई है। इस अग्निकांड में करीब 10 करोड़ रुपये के नुकसान का आकलन किया जा रहा है। आग की सूचना पर पहुंची अग्निशमन दमकल ने करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। 

मिली जानकारी के मुताबिक पनकी पावर प्लांट के परिसर में बने 400 केवी पनकी ट्रांसमिशन ग्रिड स्टेशन के 240 एमवीए के पावर ट्रांसफार्मर में कल रात अचानक जंफर तेज धमाके से टूट जाने के कारण आग लग गई, 
जिसके तुरंत बाद बिजली सप्लाई को आनन-फानन में बंद कर दिया गया। जिससे आधे कानपुर में अंधेरा छा गया। आग का असर ट्रांसमिशन लाइन पर भी पड़ा। जिसकी वजह से 220 केवी आजाद नगर और 132 केवी दादा नगर ट्रांसमिशन स्टेशन से पोषित सभी इलाकों में अंधेरा छा गया। आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है।
   
इस ट्रांसफार्मर में आग लगने की वजह से पनकी, कल्याणपुर, सचेंडी, बर्रा, विजयनगर, आइआइटी, मंधना समेत कई हिस्सो में जहरीली गैस फ़ैल गई है, इस समस्या से जूझ रहे लोगों को सुबह तक इनके  क्षेत्रों में कुछ राहत मिली है। आग के बाद निकलने वाली ब्लैक कार्बन और मैटेलिक पार्टिकल्स वायुमंडल से छट चुके हैं।



बता दे कि आग के कारण 220 केवी ट्रांसमिशन लाइन को 33 केवी डिस्ट्रीब्यूशन लाइन पर डाइवर्ट करने के बाद सिस्टम को सुधारने की कोशिश की गई। यह दीर्घकालिक व्यवस्था नहीं है। अधिकारियों के मुताबिक यह टिकाऊ नहीं है, जब तक नया ट्रांसफार्मर नहीं लगेगा तबतक छोटे फाल्ट पर भी शहर की बिजली व्यवस्था लडख़ड़ाती रहेगी। 
बताया जा रहा है कि इतने बड़े ट्रांसफार्मर को कुछ गिनी-चुनी कंपनियां ही बनाती हैं। इस ट्रांसफार्मर को भेल झांसी के साथ पंजाब और मध्य प्रदेश की निजी कंपनियां निर्माण करती है। यह ट्रांसफार्मर इतना बड़ा है कि  यह तुरंत तैयार नहीं मिलता। इसकी वजह से भी दिक्कतें आ रही हैं। पारेषण विंग ट्रांसफार्मर खोजने में लगी है उनका कहना है कि शीघ्र ही इसे स्थापित कर और उर्जीकृत किया जाएगा।

No comments