Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

भारत की 11 वर्षीय नतानिया बनी विश्व कप की बाल गर्ल




 नतानिया ने कोस्टा रिका के खिलाफ मुकाबले में स्टार फुटबॉलर नेमार की टीम ब्राजील के लिए आधिकारिक तौर पर बॉल गर्ल का काम किया

डेस्क। तमिलनाडु की 11 वर्षीय नतानिया जॉन ने शुक्रवार को फीफा विश्व कप 2018 में मैदान पर उतरते ही इतिहास रच दिया। नतानिया ने कोस्टा रिका के खिलाफ मुकाबले में स्टार फुटबॉलर नेमार की टीम ब्राजील के लिए आधिकारिक तौर पर बॉल गर्ल का काम किया। फीफा विश्व कप में बॉल गर्ल बनने वाली वह पहली भारतीय हैं।

बतादे कि फीफा विश्व कप 2002 में तमिलनाडु के रेफरी के शंकर ने हिस्सा लिया था और वह भारत के लिए पहला मौका था जब किसी भारतीय ने फुटबॉल के महाकुंभ में अपनी भूमिका निभाई थी। जिसके बाद अब 2018 विश्व कप में 16 वर्षो बाद एक बार फिर एक भारतीय को हिस्सा लेने का मौका मिला।

सेंट पीटर्सबर्ग में शुक्रवार को ग्रुप-ई में ब्राजील और कोस्टा रिका के बीच मैच में नतानिया ने अधिकारिक मैच बॉल गर्ल (ओएमबीसी) का काम किया। नतानिया बड़े होकर फुटबॉल खेलना चाहती हैं और उनके लिए यह मौका बहुत अहम है। मुकाबले से पहले नतानिया कहा था कि मुझे अभी तक यकीन नहीं हो रहा है कि मैं सचमुच ब्राजील की टीम के लिए बॉल गर्ल का काम करूंगी।

चिट्टर के ऋषि वैली स्कूल में छठी कक्षा की छात्रा नतानिया को यह मौका कर्नाटक के ऋषि तेज के साथ मिला है। इन दोनों ही बच्चों का चयन एक प्रतियोगिता के जरिये हुआ। फीफा के आधिकारिक सहयोगी केआइए की तरफ से कराई प्रतियोगिता में नतानिया ने हिस्सा लिया था।

इस प्रतियोगिता में शीर्ष 50 तक पहुंचने वालों में नतानिया अकेली लड़की थीं। फुटबॉल में नतानिया की रुचि और जानकारी देखकर प्रतियोगिता के जज के साथ भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने उन्हें चुना। नतानिया फीफा विश्व कप में पहली भारतीय बॉल गर्ल हैं।

No comments