Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से एक वर्षीय शिशु की हुई मौत







....रिपोर्ट- रत्नम चौरसिया
          पुरवा/उन्नाव। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते एक दम्पति ने अपना एक वर्षीय पुत्र खो दिया। शासन के तमाम दावों के बाद भी जमीनी हकीकत कुछ और ही निकल रही है। पीड़ित परिजनों में इस घटना को लेकर रोष व्याप्त है और मंगलवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस में अस्पताल प्रशासन के खिलाफ उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र दिया है। 
प्राप्त विवरण के अनुसार मो० उवैश पुत्र डॉ शमशाद निवासी मोहल्ला जिन्दवाबाडी पुरवा ने जिलाधिकारी को सम्बोधित एक शिकायती पत्र मंगलवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस में दिया। पीड़ित ने आरोप लगाया कि उसके एक वर्षीय पुत्र मो० उजैर का इलाज कराने हेतु सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पुरवा ले गये थे। पीड़ित के पुत्र ने अनजाने में घर में दीपक (दिया) मे रखे किरोसिन को पी लिया था। जिसके इलाज हेतु पीड़ित अस्पताल पहुंचा। पीड़ित का आरोप है कि चिकित्सक उपलब्ध न होने के कारण जिला अस्पताल के लिए उसके पुत्र को रिफर कर दिया गया। किन्तु एम्बुलेन्स के दो घण्टे के बाद आने के कारण बच्चे की हालत चिन्ताजनक हो गयी। जिला अस्पताल पहुचने के बाद वहां के डाक्टरों ने बिना इलाज के ही कानपुर हैलट के लिए रिफर कर दिया।

पीड़ित का कहना है कि पैसों के अभाव में वह हैलट नहीं गया। वहां से वह बच्चे को घर ले आया।  मंगलवार की सुबह बच्चे की हालत चिन्ताजनक होने पर पुनः पुरवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गया। किन्तु चिकित्सा व चिकित्सक दोनों के अभाव में बच्चे की मौत हो गयी। गमगीन परिवार अस्पताल प्रशासन से काफी नाराज हुआ। पीड़ित परिजनों ने  अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्यवाही हेतु सम्पूर्ण समाधान दिवस में एक शिकायती पत्र उच्चाधिकारियों को दिया।

No comments