Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

आपसी रंजिश में मारी गोली एक की मौत


....रिपोर्ट- रत्नम चौरसिया एडवोकेट
पुरवा/उन्नाव। दबंगों ने दलित के घर चढ़ाई करके अधेड़ को उतारा मौत के घाट। घटना के बाद से गांव में मातम का माहौल है। कोई भी कुछ कहने से कतरा रहा है।
 प्राप्त विवरण के अनुसार थाना असोहा के गांव गोकुलपुर निवासी पारुल पुत्र पुत्तन यादव 50 वर्ष व पुत्तन पुत्र रामाधार यादव ने राम प्रसाद पुत्र सोने लाल पासी 55 वर्ष के दरवाजे चढ़ाई करके रामप्रसाद पासी के सीने में रिवाल्वर सटाकर गोली मार दी गोली लगते ही राम प्रसाद जमीन पर गिर गया। गोली मारने के बाद पारुल यादव मौके से भाग निकला लेकिन पुत्तन नहीं भाग पाया पति को बुरी तरह घायल देख पत्नी मालती ने पुत्तन पर गड़ासे से ताबड़तोड़ वार कर अधमरा कर दिया। घटना लगभग 11:00 बजे सुबह की है।
          ग्रामीणों के मुताबिक आरोपियों ने परिवार को लगभग 3 साल से परेशान कर रहा था। जान बचाने के लिए  परिवार सहित गांव छोड़ कर कहीं चला गया था। आज सुबह रामप्रसाद परिवार सहित गांव वापस आया। उनके गांव आने की खबर मिलते ही पारुल व पुत्तन अपने  हथियारो से लैस होकर दरवाजे पर चढ़ाई करके पहुंच गए दरवाजे पर बैठे रामप्रसाद को सीने में रिवाल्वर लगाकर गोली मार दी। गोली सीना फाड़ते  हुए बाहर निकल गई। परिवारीजन तुरंत उपचार हेतु ले जा रहे थे तभी इब्राहिमपुर के पास राम प्रसाद ने दम तोड़ दिया। वही घायल हत्यारोपियों को परिवारीजन उपचार हेतु ट्रामा सेंटर लखनऊ ले गए जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। ग्रामीणों की माने तो इतने बड़े खूनी खेल के जिम्मेदार पुत्तन यादव कि दो बेटियां हैं, जो 3 वर्ष पूर्व एक दिन घर से भाग निकली थी। जिनमें से बड़ी लड़की को मृतक का पुत्र कुलदीप लेकर चला गया था, और दूसरी किसी प्रेमी के साथ लखनऊ चली गई थी। तभी से पुत्तन व पारुल  ने राम प्रसाद के परिवार को परेशान कर रहा था। मृतक के पास कुल 2 बीघा भूमि है उसे पुत्तन का परिवार उन्हें जोतने नहीं दे रहा है मृतक अपने पीछे 3 पुत्र कुलदीप ,दिलीप, शिवम और दो बेटियों के अलावा पत्नी मालती को छोड़ कर हमेशा हमेशा के लिए मौत की गोद में सो गया। लोगों में यह चर्चा है कि थानाध्यक्ष आर के सरोज के लिए यह घटना बड़ी चुनौती बन गयी है। अब देखना यह है कि पुलिस के क्या तेवर होंगे ।घटना की सूचना मिलते ही एस ओ दलबल सहित मृतक के दरवाजे पहुँच गए। कुछ देर बाद सी ओ पुरवा भी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को अलग-अलग बुलाकर घटना की हकीकत समझी और लोगों से कहा कि मृतक के परिवार को न्याय मिलेगा।

No comments