Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

GST के नए रिटर्न फार्म अगले साल जनवरी में पेश किए जाएंगे




जीएसटी के नए रिटर्न फार्म अगले साल जनवरी में पेश किए जाएंगे। वित्त सचिव हसमुख अढिया के अनुसार सॉफ्टवेयर की बीटा-टेस्टिंग के बाद नए रिटर्न फार्म जारी होंगे
 
डेस्क। जीएसटी के नए रिटर्न फार्म अगले साल जनवरी में पेश किए जाएंगे। वित्त सचिव हसमुख अढिया के अनुसार सॉफ्टवेयर की बीटा-टेस्टिंग के बाद नए रिटर्न फार्म जारी होंगे।
उन्होंने कहा कि इनपुट टैक्स क्रेडिट (आइटीसी) के गलत क्लेम के जरिये जीएसटी की चोरी होने की गुंजाइश है। इसे रोकने के लिए हर इन्वॉइस की चेकिंग जरूरी होगी।
जीएसटी की उच्चतम दर 28 फीसद के दायरे को तार्किक बनाने के सवाल पर अढिया ने कहा कि इसके दायरे में आने वाली वस्तुओं की संख्या घटाना राजस्व संग्रह पर निर्भर होगा।
एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि नया रिटर्न फाइलिंग सिस्टम लागू करने के समय के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इसे छह महीने में लांच करने का लक्ष्य है।
उन्होंने बताया कि इसका पहला ट्रायल रन चलाया जाएगा। इसका बीटा वर्जन पायलट प्रोजेक्ट के तहत चालू होगा और कुछ लोगों को इसकी टेस्टिंग के लिए कहा जाएगा।
यह काम अक्टूबर से दिसंबर के बीच होने की संभावना है। जनवरी तक नए रिटर्न फार्म को लांच किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि जीएसटी सिस्टम में इन्वॉइस मैचिंग की जानी है।
लेकिन तभी संभव है जब इन्वॉइस का विवरण एकत्रित हो पाए। रिटर्न फाइलिंग के नए सिस्टम में सरकार के पास बिक्री की सभी इन्वॉइस उपलब्ध होगी।
इसके साथ बी2बी यानी कारोबारियों के बीच लेनदेन के रिटर्न भी उपलब्ध होंगे। कारोबारी से उपभोक्ता को बिक्री के इन्वॉइस के विवरण की हमें कोई जरूरत है।
जीएसटी काउंसिल ने चार मई की बैठक में नए रिटर्न फार्म की डिजाइन को मंजूरी दी थी।
समरी रिटर्न (जीएसटीआर-3बी) और फाइनल बिक्री रिटर्न (जीएसटीआर-1) को आगे छह महीने के लिए और जारी रखने का भी फैसला किया गया।

No comments