Ad

ads ads

Breaking News

कोर्ट ने कुलदीप सेंगर व शशि सिंह की रिमांड चौदह दिन के लिए बढ़ाई

उन्नाव। दुष्कर्म मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो की जांच एक साथ कई स्तरों पर चल रही है। एक तरफ दुष्कर्म पीड़िता के परिजनों के बयान लखनऊ स्थित केंद्रीय जांच ब्यूरो के अदालत में मजिस्ट्रेट के सामने चल रहे हैं। वही विधायक के पास उपलब्ध शस्त्र लाइसेंस को निरस्त करने की भी कार्रवाई सीबीआई कर रही है। इस संबंध में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने जिला प्रशासन को इस संबंध में पत्र लिखा है। 
गौरतलब है कि विगत 2 मई को इलाहाबाद हाईकोर्ट में पेश की गई जांच की प्रगति रिपोर्ट अदालत में ठुकरा दी थी और सीबीआई पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए हाईकोर्ट इलाहाबाद में जांच के लिए सख्त दिशा निर्देश दिए थे। इस संबंध में इलाहाबाद हाईकोर्ट से मिले दिशा निर्देशों के अनुसार केंद्रीय जांच ब्यूरो अपनी जांच 21 मई के पहले पूरा कर लेना चाहता है। जिससे उनकी प्रगति रिपोर्ट में उंगली उठने की गुंजाइश कम रहा है। इधर स्पेशल जज पॉक्सो कोर्ट ने कुलदीप सिंह सेंगर व शशि सिंह की रिमांड 14 दिनों के लिए बढ़ा दी है।
दुष्कर्म मामले में सीतापुर जेल में बंद जिला कारागार में बंद भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ सीबीआई का शिकंजा कसता ही जा रहा है। केंद्रीय जांच ब्यूरो विधायक के पास स्थित तीन लाइसेंसधारी असलहों को निरस्त करने की कार्रवाई कर रही है।
बताया जाता है कि माखी थाना और उन्नाव सदर कोतवाली से आयुध अधिकारी ने रिपोर्ट की मांग की थी। जिसमें कुछ खामियां रह गई थी। जिसके बाद आयुष अधिकारी ने अपनी आपत्ति लगाते हुए रिपोर्ट को वापस भेज दिया था। अति गोपनीय तरीके से चल रही कार्रवाई के पहले चरण में आयुष अधिकारी ने थाना पुलिस से रिपोर्ट मांगी थी। गौरतलब है आगामी 21 मई को इलाहाबाद हाईकोर्ट में होने वाली सुनवाई के पहले सीबीआई लाइसेंसी असलहों को निरस्त करने की कार्रवाई पूरी कर लेना चाहती है।
वहीं दूसरी तरफ पास्को अदालत स्पेशल जज के यहां हुई पेशी में एक बार फिर विधायक कुलदीप सिंह सेंगर हाजिरी नहीं लगा सके। इस संबंध में स्पेशल जज पास्को कोर्ट को लिखे गए चिट्ठी में सीतापुर जिला कारागार अधीक्षक ने बताया है कि डॉक्टर ने विधायक को 3 दिन के लिए बेड रेस्ट पर रहने की सलाह दी है। जिससे वह पेशी में आने में असमर्थ है। जिस को मानते हुए अदालत ने विधायक की रिमांड अवधि 14 दिन की बढ़ा दी। वही सहआरोपी शशि सिंह ने अदालत में हाजिरी लगाई। गौरतलब है हाईकोर्ट के सख्त रुख के बाद विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और शहरों की सूची सिंह को उन्नाव जिला कारागार से सीतापुर जिला कारागार में शिफ्ट कर दिया गया था।
वही केंद्रीय जांच ब्यूरो की लखनऊ स्थित अदालत में पीड़िता के परिजनों के बयान लगातार जारी हैं। लगातार दूसरे दिन भी परिवारीजनों के बयान सीबीआई अदालत में मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज किए गए। जिसमें अभी तक दुष्कर्म पीड़िता की मां और बड़ी बहन के बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज हो चुके हैं। आज पीड़िता के चाचा, छोटे भाई, बहन, चाची व दादी में से किसी एक का बयान सीबीआई की अदालत में कलम बंद होंगे। गौरतलब है केंद्रीय जांच ब्यूरो दुष्कर्म पीड़िता के परिवार जनों के अलग अलग बयान लखनऊ स्थित केंद्रीय जांच ब्यूरो की अदालत में मजिस्ट्रेट के सामने करा रही है। यह सारी कवायद आगामी 21 मई को उच्च न्यायालय में पेश की जाने वाली प्रगति रिपोर्ट को देखते हुए की जा रही है। 

No comments