Ad

ads ads

Breaking News

उन्नाव रेप कांड का अहम आरोपी टिंकू सिंह सीबीआई गिरफ्त में

उन्नाव।  दुष्कर्म मामले में महत्वपूर्ण कड़ी बना टिंकू सिंह ने सीबीआई के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। केंद्रीय जांच ब्यूरो के लिए सरदर्द बना टिंकू सिंह की तलाश में सीबीआई पानी पानी हो रही थी। तमाम तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म था। टिंकू सिंह वह शख्स है जिसने दुष्कर्म पीड़िता के पिता के खिलाफ मारपीट और आर्म्स एक्ट के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कराया था। जबकि दुष्कर्म पीड़िता का पिता मारपीट के दौरान गंभीर रूप से घायल था। इसके बावजूद माखी थाना पुलिस की आंखों में पट्टी बंधी रही और दुष्कर्म पीड़िता के पिता के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया। सीबीआई इस मामले में माखी थाना में टिंकू सिंह की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत करने वाले दरोगा से भी बातचीत कर रही है कि आखिरकार घायल दुष्कर्म पीड़िता के पिता के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कैसे किया गया और घायल की तहरीर पर क्या कार्रवाई हुई। वह सवाल जो आम लोगों के सामने भी यक्ष प्रश्न बनकर खड़ा है। इधर जनपद के न्यायालय में चल रही पास्को एक्ट के मुकदमे में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की आज पेशी है। जो इस समय सीतापुर की जेल में बंद है।
आखिरकार टिंकू सिंह ने केंद्रीय जांच ब्यूरो की घेरेबंदी के बीच उनके ही लखनऊ नवल किशोर रोड स्थित जोनल कार्यालय में समर्पण कर दिया। टिंकू सिंह के समर्पण के साथ ही सीबीआई ने राहत की सांस ली। अब टिंकू सिंह से बातचीत का रास्ता खुल गया है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए सीबीआई तमाम प्रयास कर रही थी। लेकिन उसे सफलता नहीं मिल रही थी। टिंकू सिंह दुष्कर्म पीड़िता के पिता का चचेरा भाई है। जिसने विगत 3 अप्रैल की मारपीट में घायल दुष्कर्म पीड़िता के पिता के खिलाफ माखी थाना में मुकदमा पंजीकृत कराया था। जिसके आधार पर पुलिस ने दुष्कर्म पीड़िता के पिता को गिरफ्तार कर जिला कारागार में बंद कर दिया था। जिला कारागार में निरुद्ध रहते समय घायल दुष्कर्म पीड़िता के पिता की तबीयत खराब होती है और उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया जाता है। विगत 9 अप्रैल को उसकी मौत हो जाती है।
टिंकू सिंह के सामने आते ही सीबीआई की पूछताछ में और गति आएगी। इसके पहले उन्होंने माखी थाना में दुष्कर्म पीड़िता के पिता के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करने वाले दरोगा अरविंद त्रिपाठी से भी पूछताछ की कि आखिर किस आधार पर उसने घायल दुष्कर्म पीड़िता के पिता के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया था। विगत दिनों गिरफ्तार की गई शशि प्रताप सिंह उर्फ सुमन की भी सीबीआई रिमांड खत्म हो रही है। जिसे भी पुलिस सीबीआई अदालत में पेश करेगी।

No comments