Ad

ads ads

Breaking News

खरीद केन्द्र से दंबंगो ने भरवाई 84 बोरी, सूचना पर एसडीएम ने की कार्यवाई

देवरीकला। देवरी मण्डी परिसर में चल रहे शासकीय चना एवं मसूर खरीद
केन्द्रों पर सक्रिय कतिपय दंबंग एवं दलालों द्वारा प्रशासन की नाक के नीचे
आंखो में धूल झोंककर व्यापारियों के अमानक चना-मसूर की तुलाई कराई जा
रही है। केन्द्र के संचालकों एवं कर्ताधर्ताओं की मिलीभगत से विगत बुधवार
रात्रि में जमुनिया पंडित केन्द्र का बारदाना चोरी कर 84 बोरी घुने हुये अमानक चने
की तौल कर बारदाने की सिलाई करवाई गई। गुरूवार सुबह सर्वेयर की सूचना
के बाद पहुँचे एसडीएम देवरी द्वारा बोरियों जब्त कर कार्रवाई प्रस्तावित
की गई है।
शासकीय समर्थन मूल्य खरीद केन्द्रों पर चल रही भर्राशाही एवं भृष्टाचार को
लेकर विरोध प्रदर्शन एवं प्रशासनिक कसावट के बाद भी स्थिति में कोई सुधार
दिखाई नही दे रहा है। प्रशासन द्वारा कृषको के अनाज की तौल एवं खरीद की
व्यवस्था अपनी निगरानी में लिये जाने के बाद भी इन केन्द्रों पर सक्रिय दबंग
दलालों के हौसले बुलंद बने हुये है। ताजा वाकिये में मंडी परिसर में सहकारी
समिति जमुनिया पंडित द्वारा संचालित चना-मसूर खरीद केन्द्र पर विगत बुधवार
रात्रि में में प्रशासन द्वारा तैनात ऐजेंसी सर्वेयर एवं नायब तहसीलदार की अनुपस्थिति
में केन्द्र का बारदाना चोरी कर 84 बोरी अमानक चने की तौल कर उसकी
बोरियो की सिलाई कर उन्हे सेड से सटकर रखा गया। सुबह केन्द्र पर पहुँचे
सर्वेयर अतुल यादव द्वारा उक्त संबंध में पूछताछ करने एवं बोरियों का सेंपल चेक करने के बाद
मामले की जानकारी अनुविभागीय अधिकारी राकेश मोहन त्रिपाठी को दी गई।
जिसके बाद नायब तहसीदार नीरज कलासिया एवं सहायक आपूर्ति अधिकारी
के साथ पहुँचे एसडीएम देवरी द्वारा उक्त बोरियों के चने की जांच की एवं
केन्द्र के कर्ताधर्ताओं से पूछताछ की गई। परंतु केन्द्र पर तैनात जिम्मेदारों द्वारा उक्त
संबंध में कोई भी जानकारी होने से इंकार किया गया। मिलीभगत से चल रहे
इस गोरखधंघे के मामले में संबंधित पंजीकृत कृषक एवं बारदाना चोरी करने
वालों के नाम भी उजागर नही हुये है। मामले में एसडीएम के निर्देश सहायक
आपूर्ति अधिकारी द्वारा बोरियो को जब्त कर पंचनामा कार्रवाई कर रिर्पोट तैयार
की जा रही है।

पुराने मामलों में नही हुई कार्रवाई

देवरी मण्डी परिसर में चल रहे चना एवं मसूर खरीद केन्द्रों पर चल रहे खुले
भृष्टाचार एवं अनियमिताओं के कई मामले उजागर होने के बाद भी प्रशासन की
ओर से कोई कार्रवाई संभव नही हो सकी है। मण्डी परिसर के केन्द्र सिंगपुर
गंजन पर पुराने घुने हुए चना एवं मसूर की खरीदी के मामले में प्रशासन अब तक
न तो पंजीकृत कृषक का नाम पता कर सका है न ही कार्रवाई प्रस्तावित हुई है।
खरीद केन्द्र जमुनिया पंडित पर भी पूर्व में घुने हुए चने की खरीद का मामला
सामने आ चुका है परंतु कार्रवाई नही हुई। प्रशासन के लचर रवैये के कारण
खरीद केन्द्रों पर सक्रिय दलालों के हौसले बुलंद है जो व्यापारियों से मिलीभगत
कर अमानक घुने हुये चना एवं मसूर की दबंगी से तौल करवा रहे है।

क्या कहते है अधिकारी

इस संबंध में अनुविभागीय अधिकारी राकेश मोहन त्रिपाठी का कहना है कि
खरीद केन्द्र जमुनिया पंडित पर कुछ व्यक्तियों द्वारा सिली हुई बोरियों
में भरकर घुना हुआ चना रखवाये जाने की सूचना सर्वेयर के माध्यम से
प्राप्त हुई थी। उक्त प्रकरण में दोषीयों का अभी पता नही चल सका है
न ही कोई कृषक सामने आया है इसलिए माल को जब्त कर लिया गया है।
मामले में संबंधित समिति को नोटिस जारी कर जानकारी ली जायेगी एवं
नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।

...रिपोर्ट- राजेश यादव। (देवरी मध्यप्रदेश)



No comments