Ad

ads ads

Breaking News

बारिश में पानी पानी हुआ किसानों का गेहूं


NEWS DESK - सरकार और प्रशासन एक तरफ किसान और उसकी फसल को मंडी में पूरी तरह से हर सुविधा मुहैया कराने के दावे कर रही है। लेकिन धरातल पर ये दावे खोखले साबित होते नजर आ रहे है। जी हां एक ऐसा ही नजारा देखने को मिला झज्जर की अनाज मंडी में जहां रात के समय हुई दूसरी बारिश में अनाज मंडी में पडा गेंहू पूरी तरह से बर्बाद हो गया। दूसरी ही बारिश में अनाज मंडी में पड़ा किसानों का गेहूं पानी पानी हो गया खुले आसमान के नीचे रखा किसानों का गेंहू पूरी तरह से बर्बाद हो गया।
मंडी में टीन शेड न होने के चलते खुले में पड़ी गेहूं की बोरियां बुरी तरह से भीग गई। बताया जा रहा है कि यहां पर गेहूं का प्रॉपर उठान नहीं होने से किसानों को इस परेशानी का सामना करना पड़ा। आलम यह रहा की बरसात का पानी बोरियों के नीचे से बहता हुआ दिखाई दिया। तेज बरसात ने  ना सिर्फ खुले आसमान के नीचे पड़े गेहूं को भिगोने का काम किया बल्कि अन्नदाता की साल भर की मेहनत पर पानी फेर दिया। जो गेहूं अब भीग गया उसे सुखाना पड़ेगा जिसके कारण अब गेहूं का रंग फीका भी पड़ सकता है। जिससे मण्डी में अच्छा भाव न मिलने की शंका है। किसानों का कहना है कि अचानक हुई बारिश के कारण उन्हें भारी नुकसान हुआ है।

मंडी में शेड नहीं होने के कारण खुले में पड़ी गेहूं की बोरियां भीग गई. यहां पर गेहूं का प्रॉपर उठान नहीं होने से किसानों को इस परेशानी का सामना करना पड़ा. आलम यह रहा की बरसात का पानी बोरियों के नीचे से बहता हुआ दिखाई दिया. तेज बरसात में ना सिर्फ खुले आसमान के नीचे पड़े गेहूं को भिगोने का काम किया, बल्कि अन्नदाता की साल भर की मेहनत पर पानी फेर दिया. जो गेहूं अब भीग गया उसे सुखाना पड़ेगा, जिसके कारण अब गेहूं का रंग फीका भी पड़ सकता है. किसानों का कहना है कि अचानक हुई बरसात के कारण उन्हें भारी नुकसान हुआ है.

http://www.jantakiawaz.org/category/state/utterpradesh/news-446928

No comments