Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

माँ के भाग जाने पर बाप ने दोनो बच्चियो को निकाला घर से बाहर

-आशा ज्योति की काउसंलरो ने रेस्क्यू कर बच्चियों को बाल गृह पहुचाया
उन्नाव। मां बाप के आपसी झगड़े के बाद मां ने भाग कर दूसरी शादी कर ली। जिस पर शराब के नशे में रहने वाले युवक ने
दोनो बच्चियों को मार पीट कर घर से बाहर कर दिया। जिस पर रोती बिलखती दोनो बेबस बच्चियाॅ कानपुर लखनउ राजमार्ग पर एक समाजसेवी को मिली। समाजसेवी ने प्रदेश सरकार के द्वारा संचालित आशा ज्योति केंद्र को सूचना दी। जिस पर केंद्र की कांउसलर रंजना श्रीवास्तव, आयुषी सिंह व सलमा बानो ने दोनो बच्चियो का रेस्क्यू कर उन्हे बाल गृह लखनऊ पहुंचाया। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना गंगाघाट के रजुआखेड़ा का रहने वाला घूरे मछली आदि का व्यवसाय करता है। कुछ वर्षों से उसके आए दिन शराब पीकर घर आने व पत्नी फातिमा से मारपीट करने के चलते उसकी बीवी ने तंग आकर भाग कर कानपुर के रहने वाले एक अन्य युवक के साथ निकाह कर लिया। जिस पर आग बबूला होकर घूरे ने खुद की ही बच्चियों  मुस्कान 8 व  रुखसार को आए दिन पीटने लगा। इसी बीच शनिवार की सुबह उसने शराब के नशे में घर मे ंआकर दोनो बच्चियों को बुरी तरह से मारते हुए उन्हे घर से बाहर का रास्ता दिखा दिया। जिस पर दोनो बच्चियाॅ रोती बिलखती हुई कानपुर लखनउ राजमार्ग  पर दिशाहीन हो चल पड़ी। भूखी प्यासी राजमार्ग पर चल रहे राहगीरों की ओर बेबस निगाहो से निहारती दोनो बच्चियों पर समाजसेवी हरवेंन्द्र सिंह की नजर पड़ी। जिस पर हरवेंन्द्र सिंह ने दोनो बच्चियों को रोक कर उनसे पूरी जानकारी ली। तथा 181 आशा ज्योति केंद्र की काउसंलर को फोन कर मामले की जानकारी दी। जिस पर महिला काउसंलर कांउसलर रंजना श्रीवास्तव, आयुषी सिंह व सलमा बानो ने दोनो बच्चियो का मेडिकल करा रेस्क्यू करते हुए उन्हे बाल गृह लखनऊ पहुंचाया। 
------------------

No comments