Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

आदमखोर बाघ का शिकार बना ग्रामीण

लखीमपुर खीरी। थाना निघासन के गांव सहते पुरवा के अंतर्गत शुक्रवार की सुबह गन्ने के खेत में शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फ़ैल गई। वहाँ से गुजर रहे ग्रामीणों ने शव देख मामले की सूचना पुलिस को दी। जिस पर पुलिस ने घटना स्थल पर आ कर शव के शिनाख्त करने की कोशिश की। इस दौरान मृतक की पहचान उसके पास मौजूद साइकिल व चप्पल से की। पुलिस ने शव कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया ।
प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना निघासन के गांव सहते पुरवा का रहने वाले कामता प्रसाद उम्र 45 वर्ष बीते शुक्रवार के दिन घर से खेत जाने को कह कर निकले।  जिसके बाद जब देर शाम जब वे घर नहीं लौटे तो परिजनों ने उनकी तलाशी शुरू कर दी। इसी बीच दूसरे दिन सुबह  ग्रामीणों ने खेत की और से निकले उन्हें खेत पर पर शव पड़ा देखा।  जिसके बाद उन्होंने पुलिस को मामले की सूचना दी।  इसी बीच कामता प्रसाद को तलाश रहे परिजनों ने अद्धविक्षिप्त शव की शिनाख्त वहाँ मौजूद साइकिल व चप्पल से की।  पुलिस ने शव कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया ।

ग्रामीणों  बताया कि ऐसा लग रहा है कि बाघ पहले से  खेत में  बाघ घात लगाए बैठा था जिसके चलते साइकिल सवार कामता प्रसाद जैसे ही अपने खेत  की तरफ निकले, उसने  हमला कर दिया तथा कामताप्रसाद को गन्ने के खेत में घसीट ले गया। जहां  उसे अपने मुंह का निवाला बना लिया।
बताते चलें क्षेत्र में आदम खोर बाघ का आतंक इस कदर व्याप्त है कि ग्रामीण दिन में भी निकलने की हिम्मत भी जुटा नहीं पा रहे हैं। वहीं वन विभाग द्वारा किसी  कार्रवाई न होने के चलते ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है । ग्रामीणों ने बताया की बाघ की चहल कदमी इन दिनों बढ़ती ही जा रही है।
विशेष रिपोर्ट ब्यूरो चीफ

No comments