Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

ग्रामीणों ने चोर समझ बेगुनाह को धुना, थाने में मौत

मृतक की फ़ाइल फोटो 
लखीमपुर-खीरी। निघासन थाने के गांव सुक्कन  पुरवा में ससुराल जा रहे एक युवक को ग्रामीणों ने चोर समझ जमकर धुनाई कर दी। इस दौरान सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने घायल युवक को घायल अवस्था मे उसे थाने लेकर आई। इस दौरान घायल युवक को इलाज देने की बजाए उसे ही पुलिस कर्मी उसे डराने धमकाने में लगे रहे। जिससे थाने में एक घण्टे के बाद इलाज के अभाव में उसकी मौत हो गई।
युवक की मौत होती देख पुलिस कर्मियों के हाथ पाॅव फूल गए। उन्होने मामले का रफा दफा करने के लिए उसे आनन-फानन में उसे बीब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए। जंहा डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। वहीं युवक के परिजनों ने मामले की जानकारी पा आनन
स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद डरे सहमे बच्चे 
फानन स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। जहाॅ उसकी सिनाख्त की। वहीं परिजनों के तहरीर की बात कहने के बावजूद पुलिस तहरीर लिखने में आनाकानी करती नजर आ रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार निघासन थाना के अन्तर्गत लेकपाल पुत्र प्यारेलाल निवासी बरोठा ससुराल लखहई जा रहा था। इसी दौरान गांव सुक्कन पुरवा से गुजरते वक्त देर शाम उसे ग्रामीणों ने चोर समझ धुनाई कर दी। जिससे वह लहुलुहान होकर वहीं गिर पड़ा। इसी दौरान पुलिस ने सूचना मिलने पर उसे घायल अवस्था में थाना लिवा लाई। इस दौरान उसे चोर समझ उससे पूंछताछ करती रही। जिससे इलाज के अभाव में उसकी मौत हो गई। जिससे उसकी थाने में ही दर्दनाक मौत हो गई। युवक की मौत दख पुलिस कर्मियां के हाथ पाॅव फूल गए। उन्होने आनन फानन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। जहाॅ चिकित्सक ने उसे मृतक घोषित कर दिया। इसी दौरान परिजनो को घटना की सूचना मिलने पर वे आनन फानन स्वास्थ्य केद्र जा पहुंचे। जहाॅ उन्होने उसकी सिनाख्त कर मामले पर तहरीर देनी चाही। जिस पर पुलिस कर्मियों ने अपनी गर्दन फंसती देख टालमटोल करते रहे।
रोजाना कमा कर घर चलाने वाले मृतक का परिवार अब गहरे संकट में दिखाई पड़ने लगा है। मृतक लेकपाल पुत्र प्यारेलाल की पत्नी रामगुनी का रो रो कर बुरा हाल था। वहीं मृतक की 8साल की पुत्री पप्पी व व पुत्र 6साल का सुशील डरे सहमे दिखाई दे रहे थे। वहीं मृतक की पत्नी रामगुनी भविष्य को लेकर भी परेशान  दिख रही थी।
क्षेत्र मे कानून व्यवस्था ध्वस्त
पूरे क्षेत्र में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। लगातार चोरियों की घटनाओ के चलते ग्रामीणों में पुलिस व प्रशासन को लेकर आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। क्षेत्र में लगातार चोरियों पर पुलिस किसी तरह से अब तक अकुंश लगाने में सक्षम नहीं हो पाई है। ग्रामीण रात रात भर जाग जाग कर घरों की रखवाली करते दिख रहे हैं। वहीं चुनाव के दौरान जनता से वादा करने वाले जनप्रतिनिधि ग्रामीणो को परेशानियो को जानने के बावजूद किसी प्रकार की रुचि लेते दिखाई नहीं दे रहे है।

No comments