Ad

ads ads

Breaking News

परमिट से अधिक सवारियां भरकर जानलेवा बन रहे डग्गामार वाहन,प्रशासन,आरटीओ सभी बने अंजान

लखीमपुर- शहर में अनाधिकृत रूप से चल रहे डग्गामार वाहनों से सवारियां ढोने वाले वाहनों की तीव्र गति  पर अंकुश न लग पाने के कारण आए दिन बडे सड़क हादसों में लोगों की मौतें हो रही हैं। लेकिन विभागीय अधिकारी यह सब देखकर अंजान बने हुए हैं। जबकि शनिवार को थाना पसगवां क्षेत्र की पुलिस चौकी उचौलिया के पास नेशनल हाईवे 24 पर एक तेज रफ्तार मैजिक अनियन्त्रित होकर ट्रक के पीछे से घुस गयी थी। जिसमें कई लोगों की दर्दनाक मौत हो गयी थी। जिसके बाद भी जनपद भर में सडकों पर चल रहे  बेलगाम वाहन अनियंत्रित गति व परमिट से अतिरिक्त सवारियां भरकर यात्रियों को मौत के मुंह में लेकर चलने वाली मैजिकों पर एआरटीओ भी कार्रवाई करने में पीछे हैं। बताते चलें कि नगर के प्रमुख चौराहे  लखीमपुर से ओयल, हरगांव, लखीमपुर से रामापुर होते हुए सिसैया सहित विभिन्न मार्गों पर ओवरलोड व अनियंत्रित गति से चलने वाली मैजिकों टेम्पो जैसे वाहनों पर अंकुश लगता नजर नहीं आ रहा है। इसका प्रमुख कारण है कि एक ओर जहां चालकों की तेज गति से वाहन चलाने और  प्रत्येक थाना चौकियों के क्षेत्रों में चौकी  इंचार्ज व बीट सिपाहियों द्वारा वाहनों की तीव्र गति की अनदेखी करना है। इस कारण समूचे क्षेत्र मे आंकड़ों पर गौर करें तो लखीमपुर से ओयल मार्ग पर प्रत्येक माह कई दुर्घटनाएँ होती रहती है।  वही लखीमपुर गोला मार्ग, नौरंगाबाद स्टैंड से सिसैया मार्ग लखीमपुर से गोला मार्ग पर लोगों के साथ कई सड़क हादसे चोटें व मौतों के मामले हो चुके हैं।वहीं पीड़ितों के हजारों परिवारों के लोगों को इन दुर्घटनाओं के चलते अपनों से बिछड़ने व उपचार कराने में लाखों रुपयो को खर्च के लिए विवश होना पड़ता है।मैजिक चालकों द्वारा तीव्र रफ्तार में पहले तो स्टैंड के ठेकेदारों में नंबर लगाने की होड़ लगी रहती है। जिससे नंबर पहले लग जाए तथा दिन में कई कई चक्कर लगाकर कमाई की जाए।वहीं इस होड़ में कई बार मैजिक चालकों द्वारा वाहनों को बेतरकीब खड़ा करने से जाम की स्थिति हो जाती है।साथ ही सवारियां बैठाने के चलते मैजिक चालक आपस में भिड़ जाते हैं।ऐसी स्थिति में बिना किसी निश्चित स्थान के एकाएक वाहनों के रोक देने से पीछे चल रहे बाइक सवार पुरुष,महिलाएं  स्कूली बच्चे आदि टकरा जा जाने के भी कई मामले होते रहते है। लेकिन बताया जाता है कि इन सभी घटनाओ से सबसे मैजिक चालकों को कोई फर्क नहीं पड़ता। लोगो का कहना है कि साथ ही पुलिस प्रशासन भी ऐसे मामलों में किसी प्रकार की शिकायत के न होने के कारण कार्रवाई करने से भी गुरेज करती है।

....रिपोर्ट - हिमांशु श्रीवास्तव  ( लखीमपुर खीरी )  

No comments