Ad

ads ads

Breaking News

आसाराम की टूटी आशा, कुछ ही देर में हो सकता है सजा का ऐलान

ब्रेकिंग न्यूज़ 
डेस्क। नाबालिग से रेप केस में आसाराम समेत तीन दोषी करार कर दिए गए है। वही उनके साथ बंद दो सेवादारों को कोर्ट ने बरी कर दिया है। आसाराम को नाबालिग से रेप का दोषी करार दिया गया है। आसाराम एक नाबालिग लड़की से रेप के आरोप में करीब 5 साल से ज्यादा वक्त से जेल में बंद था। . इस मामले में जोधपुर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया. इस मामले में आसाराम के साथ दो और लोगी को दोषी करार दिया गया है. इस मामले में कुल पांच लोग आरोपी थें, जिनमें दो लोगों को बरी कर दिया गया है. आसाराम रेप केस में फैसला सुनाने के लिए कोर्ट जेल में ही लगा और वहीं फैसला सुनाया गया. पुलिस ने आसाराम रेप में उनके सेवादारों के खिलाफ नवंबर 2013 में चार्जशीट दाखिल की थी. इस केस में कुल 58 गवाहों ने गवाही दी. आसाराम के खिलाफ जिन धाराओं में केस दर्ज किया गया उसमें उम्रकैद तक की सजा हो सकती है. प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए जोधपुर को किले में तब्दील कर दिया है. पूरे शहर में धारा 144 लागू है. पुलिस और सुरक्षाबलों के जवान फ्लैग मार्च कर रहे हैं. हर आने-जाने वालों की तलाशी ली जा रही है. आसाराम के जोधपुर आश्रम को भी खाली करा लिया गया है।
वहीं  आसाराम को दोषी करार दिए जाने के बाद ट्वीट कर कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने कहा कि अब समय आ गया है कि लोगों पहचनान होगा कि असली संत कौन है और नकली संत कौन है. इस तरह के मामले में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की छवि पर असर डालते हैं.The time has come when people should be able to differentiate between the actual saints and the frauds, as this creates a bad image of the country in the international arena: Ashok Gehlot, Congress on #Asaram convicted in rape case pic.twitter.com/rTFZW3WgdT
— ANI (@ANI) April 25, 2018

नाबालिग से रेप केस मामले में जोधपुर कोर्ट द्वारा आसाराम को दोषी करार देने के बाद पीड़िता के पिता ने कहा कि अब  हमें न्याय मिला है. साथ ही उन लोगों को भी न्याय मिला है जिनका कत्ल कर दिया गया था या अपहरण किया गया था. मुझे पूरा भरोसा है कि अब आसाराम को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी. उन्होंने कहा कि मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने इस लड़ाई में मेरी मदद की और साथ खड़े रहे.। वहीं  नाबालिग पीड़िता के पिता ने कहा, काफी दिक्कतों का सामना किया और आखिरकार उन्हें न्याय मिल गया।
- आसाराम के वकील ने कहा कि अभी अपने कोर्ट के फैसले की कॉपी नहीं मिली है इसलिए अभी कुछ भी नहीं कह पाउंगा. हमारी वकीलों की टीम ये देखेगी कि अदालत के इस फैसले को चुनौती दी जाए या नहीं। . उन्होंने कहा कि हमारो पास सबूत थे कि पीड़िता की उम्र 18 साल से ऊपर है लेकिन उसकी गलत उम्र बताई गई. लड़की के बयान में कई विरोधाभास थे।

- आसाराम के साथ हॉस्टल वॉर्डन शिल्पी और शरत हॉस्टल डायरेक्टर को कोर्ट ने दोषी करार दिया है. अदालत ने इस मामले में ने अडेंटेंडेट शिव और प्रकाश को बरी कर दिया है।  आसाराम के प्रवक्ता नीलम दूबे ने कहा कि वह अपनी लीगल टीम से बात कर रहे हैं और आगे की कार्रवाई पर फैसला लेंगे. उन्होंने कहा कि हम न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है।
- कोर्ट के फैसले से पहले जोधपुर जेल के बाहर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई, कई जगह धारा 144 लागू हो गयी है ।
कार्रवाई एक निगाह में:
- आसाराम 2013 से ही जेल में बंद
- 9 गवाहों पर हमले हुए, 3 की मौत
- जोधपुर कोर्ट परिसर में एक गवाह को चाकू मारा गया
- पीड़ित परिवार का आरोप- जान से मारने की धमकियां मिल रहीं
- पुलिस और यहां तक की जज को भी धमकियां मिलीं

No comments