Ad

ads ads

Breaking News

कोर्ट मैरिज फीस के बाद भी जब वकील ने प्रपत्र को लेकर की आनाकानी तो कर दी ह्त्या

उन्नाव। बीते रविवार की सुबह हसनगंज थाना क्षेत्र में वकील की हत्या कर शव फेंके जाने का मामला सामने आया था। जांच में जुटी टीम ने चौबीस घंटे में घटना से पर्दा उठा खुलासा कर दिया। मामला खुला तो सभी के पैरों तले से जमीन खिसक गयी। आशनाई में अधिवक्ता को अपनी जान गंवानी पड़ी। शक की बिना पर पकड़े गए अभियुक्तों ने पुलिसिया पूंछतांछ के दौरान सारी सच उगल दिया। हत्या में एक महिला व युवक को गिरफ्तार किया गया  
सोमवार को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में एसपी पुष्पांजलि ने प्रेसवार्ता की। इस दौरान उन्होने बताया कि कल यानि रविवार को हसनगंज थाना क्षेत्र के लालपुर स्थित करन सिंह के खेतो मे अधिवक्ता कुलदीप लोध पुत्र पूरन लोध का शव पड़ा पाया गया था। जिस पर टीम गठित कर खुलासा करने का निर्देश दिया था। जांच में जुटी टीम ने नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी कर पूंछतांछ शुरू की तो कड़ियां आपस में जुड़ने लगी। इस दौरान पुलिस ने मनीषा व सत्येन्द्र नाम के दो शख्सों की गिरफ्तारी। पूछतांछ के दौरान दोनो आरोपियों ने सारा सच पुलिस के सामने उगल दिया। पकड़े गए आरोपी सत्येन्द्र ने पुलिस को बताया कि सात माह पूर्व हम दोनो कोर्ट मैरिज करने के लिए कचेहरी पहुंचे थे। जहाँ हमारी मुलाकात वकील कुलदीप लोध से हुई थी। कोर्ट मैरिज के दौरान मनीषा को बालिग होने में चार महीने बाकी थे। उम्र पूरी होने पर दोनो वापस फिर कचेहरी आए और अपने वकील से कोर्ट मैरिज की फीस दी, लेकिन इस बार भी मैरिज के प्रपत्र अधिवक्ता कुलदीप ने नही दिए और मनीषा से नजदीकियां बढ़ाने का प्रयास किया। अभियुक्त के मुताबिक 9 तारीख को मनीषा के फोन पर कुलदीप ने फोन किया जिसकी जानकारी उसने अपने पति सत्येन्द्र को दी। दोनो ने योजनाबद्ध तरीके से कुलदीप को फोन किया जिस पर कुलदीप ने मनीषा से किसी सूनसान जगह पर सज संवर कर मिलने की बात कही। योजना के क्रम में सत्येन्द्र ने नल का हत्था लिया और मनीषा से निश्चित जगह पर मिलने के लिए कुलदीप को बुलाया। कुलदीप हत्था लेकर सरसो के खेत में छिपकर बैठ गया। कुलदीप के आने पर मनीषा ने उसे सरसो के खेत में बुलाया जहां कुलदीन ने अपने प्यार का इजहार करते हुए मनीषा के साथ जबरदस्ती करनी शुरू की। जिस पर सत्येन्द्र ने पीछे से नल के हत्थे से कुलदीप पर प्रहार कर दिया। दोनो में हाथापाई शुरू हुई। जिस पर दोनो ने एकराय होकर कुलदीप की हत्या कर दी। हत्या के बाद शव जंगल में फेंक दिया और हथियार को तालाब में गाड़ दिया था। 
बार एसोसिएशन के महामंत्री ने जताया आभार 
प्रेसवार्ता के दौरान मौजूद बार एसोसिएशन के महामंत्री सुशील कुमार शुक्ल ने कहा कि कई बार कुछ ऐसे मामले सामने आ जाते है जिसकी वजह से हम सभी को उनसे सीख लेने की जरूरत होती है। अधिवक्ता समाज द्वारा लगाई जा रही गुहार को एसपी पुष्पांजलि ने सुना और गंभीरता से लेते हुए घटना का जल्द से जल्द खुलासा किया इसके लिए हम सभी उनका आभार व्यक्त करते है। 

No comments