Ad

style="width:640px;height:100px;" alt="ads" /> ads

Breaking News

मजदूर की संदिग्ध हालातो में मौत

उन्नाव। बांगरमऊ थाना  क्षेत्र के गांव पुराहास निवासी मजदूर का शव बिल्हौर मार्ग पर बिल्हौर से सिलेब ढालकर ट्रेक्टर से लौटते समय बेरियागाड़ा मोड़ के निकट संदिग्ध  परिस्थितियो में रोड किनारे पाया गया। वहीं  मौत को लेकर ग्रामीणों में तरह तरह की चर्चाओ के चलते सुगबुगाहट देखी गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार क्षेत्र के गांव फरीदपुर कट्टर के मजरा पूराहास निवासी मजदूर सर्वेश पुत्र बाबूलाल गांव के ही अरविन्द की सिलेब ढालने की मशीन पर मजदूरी करने हेतु बीते दिवस कानपूर क्षेत्र के बिल्हौर गया हुआ था। जहाँ से करीब एक दर्जन मजदूरों के साथ देर रात अपने गांव वापस आ रहा था। तभी बिल्हौर मार्ग स्थित बेरियागाड़ा के निकट उसका शव संदिगध परिस्थितियों में पड़ा पाया गया। वहीं जब साथी मजदूरो से जानकारी लेनी चाहीं तो उन्होने बताया कि वे साथ ही शहर  से लौट रहे थे। इसी बीच सर्वेश का पेट खराब होने के बाद वह यह कहते हुए वह जगंल में रूक गया कि वह थोड़ा शौच क्रिया हेतु वह खेत पर जा कर घर आ जाएगा। जिस पर वे सभी उसे वही छोड़ घर चले गए।  इसी बीच भोर पहर ठण्ड के चलते अन्य साथी रोड किनारे आग तापने लगे तभी उन्हें पता चला कि वह अब तक घर  नहीं लौटा था इस पर उसके परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी थी इसी बीच उन्हें  खोजबीन करने पर उसका शव रोड के  किनारे पड़ा पाया।
वही ग्रामीणों में दबे पांव चर्चा तेज है कि उक्त मजदूर सिलेब ढालकर लौटते समय ट्रेक्टर से नीचे गिर गया और उसका पहिया ऊपर से गुजरने से उसकी मौत हो गयी। तथा  परिजनों को गुमराह करने के लिए उसे घटना को मोड़ दिया जा रहा है। गांव के ही एक रसूखदार के दबाव के चलते अन्य मजदूर सच्चाई बताने से कतरा रहे है। घटना की सच्चाई का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट हो सकेगा। फिलहाल मौत की खबर से पूरे गांव में सन्नाटा छाया हुआ है। तथा घटना की सच्चाई सुनने के लिए ग्रामीणों में बेचैनी बनी हुई है।सुचना पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु उसे जिला अस्पताल भेज दिया गया है। दर्जनों मजदूरों के साथ होने के बावजूद मौत का कारण ना उजागर हो पाना  भोर पहर की रात ठंड में मजदूरों का आग तापना व म्रतक के शरीर पर सिर्फ एक बनियान लोगो के गले नही उतर रही है।
----------------------

No comments