Ad

ads ads

Breaking News

बालीवुड में फर्श से अर्श पर जा पहुंचा जिले का युवक

उन्नाव। फिल्म इंडस्ट्री में मामूली तौर पर कार्य शुरू करने वाले जनपद के युवक की किस्मत ऐसी पलटी कि फिल्मों में मामूली हैसियत रखने वाला वह शख्स कुछ ही समय में फिल्मी दुनियाॅ में अहम किरदार बैठा।
मुबई की फिल्म की मायावी दुनिया में किस्मत आजमानें लाखों युवक जाते हैं। जिनमें कुछ ही छोड़ अधिंकाश यहाॅ से मायूस ही लौट जाते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं जो अपना किरदार अपनी मेहनत के बूते लिख ही देते हैं। उन्ही में से जिले के मामूली सा युवक फिल्मी दुनिया मे किस्मत आजमाने गया था। मेहनत और हौसला के बूते साधारण पद से वह फिल्मी दुनिया का अहम किरदार बनता चला गया।
यह कोई फिल्मी स्टोरी नहीं बल्कि सच्ची कहानी है यूपी के उन्नाव जिले में शकूराबाद निवासी अनुपम द्विवेदी की। बॉलीवुड इंडस्ट्री में किस्मत आजमाने गये अनुपम को ज्यादा धक्के नहीं खाने पड़े। उन्होने मेहनत के बूते जल्द ही मामूली से अहमक बन गए। आज वे पेशे से लाइन प्रोड्यूसर का काम करते हैं। अब अभिनेता के रूप में उनकी पहली फिल्म फाइनल डिसीजन अगले साल सिनेमाघरों में रिलीज होगी। फिल्म की शूटिंग लखनऊ और बाराबंकी में होनी है। अनुपम बॉलीवुड डायरेक्टर सूर्य कांत त्यागी की फिल्म फाइनल डिसीजन में रिपोर्टर का रोल कर रहे हैं। फिल्म की पूरी शूटिंग रायबरेली और लखनऊ में होनी है। इसके अलावा कुछ सीन उन्नाव के भी लिए जाएंगे। साउथ फिल्मों की हिरोइन अक्षा पारदसनी लीड रोल में हैं। एक्टर संग्राम सिंह के अलावा टेलीविजन की स्टार सुधा चंद्रा, मशहूर बॉलीवुड अभिनेता जाकिर हुसैन, कॉमेडियन राजपाल यादव,  गंगाजल फेम यशपाल शर्मा काम कर रहे हैं।

थोड़े ही संघर्ष मे पा लिया अनुपम ने बड़ा मुकाम
शकूराबाद के निवासी अनुपम द्विवेदी का जन्म 7 जुलाई 1989 में हुआ। अनुपम के पिता अरविंद कुमार के दिवगंत हो जाने के बाद पूरे परिवार की जिम्मेदारी गृहणी के तौर पर कभी घर से बाहर न निकलने वाली उनकी मा उमेशा द्विवेदी पर आ गई। लेकिन उमेशा ने अपने बच्चे के सुनहरे भविष्य में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी। अनुपम ने स्नातक कर बालीवुड में हाथ आजमाने का फैसला किया। यह बहुत आसान नही था। लेकिन मामूली तौर पर बालीवुड गए अनुपम ने जल्द ही खुद की पहचान बालीवुड में बना ही ली। आज वे फुल टाइम बॉलीवुड लाइन प्रोड्यूसर के तौर पर जाने जातें हैं। वहीं एक फिल्म के जरिए अभिनय में हाथ पाव मारने की कोशिश की है।
--------------------------