Ad

ads ads

Breaking News

विधायक के भाई ने कार ओवरटैक करने पर चार युवको को किया अधमरा

-पुलिस की मौजूदगी में युवको को पीटा
उन्नाव। राज्यसभा में क्रास वोटिंग चर्चा में आए पुरवा विधायक अनिल सिंह का नाम एक बार फिर सुर्खियांे में आ गया। इस बार उनका नाम उनके भाई के चलते आया। सत्ता के नशे में चूर हो विधायक अनिल सिंह के भाई ने रविवार रात गाड़ी ओवरटेक को लेकर करने के मामूली विवाद में पांच युवकों को कई गाड़ियों से पहुंचे आधा सैकड़ा लोगों ने पुलिस की मौजूदगी में तीन युवकों को पीट पीटकर मरणासन्न कर दिया। वहीं दो अन्य को भी गंभीर चोटें आई हैं। मरणासन्न युवकों को लखनऊ के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। विधायक पर अपने समर्थकों से हमला कराने का आरोप लगा है तो वहीं, विधायक के बड़े भाई ने भी घायल युवकों के खिलाफ मारपीट और बलवा का मुकदमा दर्ज कराया है। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार रात बसपा से निष्कासित विधायक अनिल सिंह के भाई दिलीप सिंह रविवार रात नौ बजे के करीब अपने गांव रंजीतखेड़ा कोदइयाखेड़ा मौरावां से परिवार के साथ लखनऊ जा रहे थे। मौरावां-मोहनलालगंज मार्ग पर सरवन मोड़ के पास एक दूसरी कार को ओवरटेक करने में उसकी कार मामूली सी टच हो गई। इस पर विवाद शुरू हो गया। दिलीप ने फोन पर अपने विधायक भाई अनिल सिंह को मारपीट और लूट की जानकारी दी। आरोप है कि कुछ देर में कई गाड़ियों से विधायक के 60-70 समर्थक घटनास्थल पर पहुंच गए। बताते है कि कार सवार युवक भागने की हड़बड़ी में रास्ता भटक गए और सरवन मोड़ के पास ही फिर पहुंच गए और वहां विधायक के समर्थकों के हाथ लग गए।
समथर्कों ने सभी को कार से खींचकर पीटना शुरू कर दिया। उसी दौरान पुलिस भी वहां पहुंच गई। पांचों युवक जान की दुहाई देते रहे। लेकिन सत्ता के नशे में चूर वहाॅ पर मौजूद किसी को रहम नहीं आया और उनको बेरहमी से पीटा गया। युवकों के लहूलुहान होकर गिर जाने पर समर्थक पीछे हटे तब पुलिस उनको लेकर मौरावां सीएचसी ले गए, वहां से गंभीर हालत में रविप्रकाश, मयंक, शिवकुमार, उर्फ बबलू को जिला अस्पताल ले जाया। हालत लगातार बिगड़ते जाने पर तीनों को कानपुर के हैलट के लिए रेफर किया गया पर परिजन उनको लखनऊ ट्रामा सेंटर ले गए। जहां तीनों की हालत गंभीर बनी हुई है। जबकि सीएचसी में उपचार कराने के बाद भगत सिंह और आसिफ को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उधर, विधायक के भाई की तहरीर पर असोहा पुलिस ने घायल युवकों के खिलाफ मारपीट और बलवा की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की है। कार में मिली घायल शिवकुमार यादव की रायफल और रिवाल्वर भी पुलिस ने कब्जे में ली है।
तिलक में शामिल हो लौट रहे थे युवक
जिन कार सवार युवकों को बेरहमी से पीटा गया वह सभी अपने दोस्त ट्रांसपोर्ट नगर लखनऊ निवासी शिव कुमार उर्फ बबलू यादव की ममेरी बहन के तिलक में शामिल होकर मोहिनीखेड़ा मौरावां से लौट रहे थे। घायलों में भगत सिंह पुत्र सतपाल निवासी मिठौली हसनापुर मेरठ, आसिफ पुत्र खुर्शीद आलम निवासी गामड़ी मेडू दिल्ली, रवि प्रकाश पुत्र अनीस खुरपुरा मुरादाबाद बलिया और मयंक पुत्र धनपाल निवासी गंगरोल विजयगढ़ अलीगढ़ ने बताया कि विधायक के भाई की कार ने तेज रफ्तार में उनकी कार को ओवरटेक किया। कार टच होने के बाद वह खुद को विधायक का भाई बता रौब गांठने लगे जिस पर मामूली नोकझोंक हुई। उनके द्वारा रायफल तानने और मारपीट करने का गलत आरोप लगा अपने विधायक भाई को फोन किया गया उसके बाद उनके लोगों ने उनको बेरहमी से पिटा।
घायलों को सीएचसी में जमीन पर लेटा किया इलाज 
खून से लथपथ घायलों को पुलिस ने रात में ही सीएचसी मौरावां में भर्ती कराया। घायलों को बेड की जगह जमीन पर लिटाकर इलाज किया गया। जमीन पर खून से लथपथ घायलों को देख लोग भी हैरत में थे। हालत गंभीर होने पर डाक्टर ने भगत, आसिफ और रविप्रकाश को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। यहां से कानपुर रेफर किए जाने पर परिजन उन्हें लेकर ट्रामा सेंटर लखनऊ चले गए।  
-------------------------------