Ad

ads ads

Breaking News

शादी के दूसरे ही दिन दूल्हे की मौत

पटना- धूमधाम से शादी होने के बाद दूल्हा दुल्हन को लेकर पंहुचा अपने घर  जहां  दुल्हन को ठीक से देख भी नहीं पाया था कि दूल्हे की संदिग्ध हालत में हुई मौत से घर में कोहराम मच गया। दुल्हन की मांग का सिंदूर पल में धुल गया और उसकी चूड़ियां तोड़ दी गई यह देखकर लोगों की आंखों में आंसू भर आए। 
सीतामढ़ी जिले के थाना क्षेत्र के पथराही गांव में  एक युवक की शादी के दूसरे  ही दिन अचानक मौत हो गयी। घटना मंगलवार की है । इस घटना को सुनकर हर कोई हैरान है। किसी को एक पल विश्वास नहीं हो रहा है कि जिस दुल्हन के हाथों पर लगी मेहंदी का रंग भी अभी फीका नहीं हुआ था कि वह विधवा हो गयी। अचानक हुई मौत से दूल्हे के घर में कोहराम मचा है तो वहीं दुल्हन को होश नहीं है। बताया जाता है कि पांच मार्च को नरेश मुखिया के पुत्र हरिश्चंद्र मुखिया की शादी मधुबनी जिले के शिवनगर गांव के मातवर मुखिया की पुत्री दिलतोरी कुमारी से उसकी शादी हुई थी।
जहाँ पर शिवनगर में बरातियों के पहुंचते ही दुल्हन पक्ष के लोग दूल्हे को देखकर तरह.तरह की टिप्पणी करने लगे। उसके चाचा श्रवण मुखिया ने बताया कि जयमाला के मंच पर जाते समय दूल्हा एक वृद्ध महिला से टकरा गया था जिसके तत्पश्चात दूल्हे की मानसिक स्थिति बिगड़ गयी और वह अलग तरह.तरह की हरकतें करने लगा। हरिश्चंद्र बरातियों व अन्य लोगों से भी उलझने लगा। चाचा श्रवण ने बताया कि वृद्ध महिला ने दूल्हे पर किसी तरह का जादू.टोना कर दिया था जिसके चलते उसकी मानसिक हालत खराब हो गयी और  वह अनाप.शनाप बकने लगा था। उन्हने बताया कि किसी तरह उसकी शादी करायी गयी। छह मार्च की सुबह हरिश्चंद्र दुल्हन को लेकर घर पहुंचा। और उसी दिन शाम में करीब चार बजे दुल्हन अपने मायके चली गयी। करीब ढ़ाई घंटे के बाद ही दूल्हे की मौत हो गयी। वह अपने कमरे में बेड पर मृत पाया गया। मौत के कारणों की जानकारी नहीं मिल सकी है। बाजपट्टी थानाध्यक्ष कंचन भास्कर ने बताया कि घटना की बाबत मृतक के परिजन से लिखित या मौखिक सूचना नहीं मिली है। ग्रामीणों से खबर मिलने के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो परिजन शव को दाह.संस्कार के लिए ले जा रहे थे।

No comments